ट्रंप की हार के बाद अब गोदी मीडिया के चैनल बाइडेन और पीएम मोदी की पुरानी दोस्ती बताने लगे है लेकिन फिर ट्रम्प से क्या था

गोदी मीडिया

ट्रंप की हार के बाद गोदी मीडिया के रुख भी अब बदलने लगे हैं पहले गोदी मीडिया जब ट्रंप की लगातार दोस्ती की चर्चा करता था और यह भी बताता था कि पीएम मोदी से डोनाल्ड ट्रंप की कितनी गहरी दोस्ती है ऐसे ढेरों कार्यक्रम सोशल मीडिया पर आज भी मौजूद हैं इस में पीएम मोदी और डोनाल्ड ट्रंप की दोस्ती का जिक्र है और यह तक बताया गया है कि इस दोस्ती से भारत को कितना फायदा होने वाला है उन फायदों को भी इन्होंने गिनाया

लेकिन डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दोस्ती से भारत को क्या फायदा हुआ इसका किसी को कोई पता नहीं है सिर्फ हवा हवाई बातें हैं बल्कि कुछ दिनों लगातार भारत को नुकसान ही हुआ था। जब वीजा पर रोक लगाई गई थी। लेकिन जब डोनाल्ड ट्रंप के चुनाव प्रचार के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका गए वहां भारतीयों को और अमेरिकियों को बुलाया गया एक बड़े मंच पर कार्यक्रम को सजाया गया और उस कार्यक्रम का नाम था हाउडी मोदी।

लेकिन गोदी मीडिया के चैनलों और उनके एंकरों ने भी उस वक्त भी यही बताया था कि इस कार्यक्रम से देश को बहुत फायदा होने वाला है। लेकिन क्या उस समय गोदी मीडिया के बैंकर जो बता रहे थे कि इस कार्यक्रम से बहुत देश को फायदा होने वाला है तो क्या आप बता सकते हैं कि वह फायदा क्या था और देश को क्या फायदा हुआ। क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तो उस कार्यक्रम में कहते हुए नजर आ रहे थे कि अबकी बार ट्रंप सरकार।

लेकिन हाउडी मोदी कार्यक्रम की खर्चे को भी लगातार सवाल उठाए गए हैं। लेकिन जिस समय हावडी मोदी कार्यक्रम हो रहा था उस समय भी व्हाट्सएप में मैसेज चलने लगे थे। और इस कार्यक्रम को लेकर बड़े-बड़े दावे भी किए जा रहे थे कि अब देश को यह फायदा होने वाला है अब नौकरियां मिलेंगी। लेकिन उस कार्यक्रम के होने के बाद भी सब कुछ वैसा का वैसा ही रहा। जिस तरीके के दावे गोदी मीडिया ने किए थे। और देश की जनता को बताया था कि देश को बहुत बड़ा फायदा होने वाला है।

इसके बाद क्या हुआ था कोरोनावायरस काल शुरू हुआ था। और चीन में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही थी और अमेरिका में लेकिन उसी दौरान नमस्ते ट्रंप का कार्यक्रम रखा जाता है और उसमें अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप यह कहते हुए नजर आते हैं एयरपोर्ट पर 7 मिलियन लोग उनका स्वागत करेंगे। गरीबों के मकानों को छुपा कर आ गए घर के उनके दीवार बनाकर यह कार्यक्रम किया गया। लेकिन इस कार्यक्रम से भी गोदी मीडिया के एंकरों ने यह दावा किया इस कार्यक्रम से देश को बड़ा फायदा होने वाला है।

जब नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम हुआ तब गोदी मीडिया के एंकर यह कहने लगे कि इस कार्यक्रम के दौरान बड़ी बड़ी डील होने बाकी हैं लेकिन उस डील का तक कोई पता सिरा आज तक नहीं है। बिल्कुल साफ स्पष्ट तौर पर समझिए की गोदी मीडिया ने लगातार देश की जनता को बेवकूफ बनाया है। लगातार अपने कार्यक्रमों में झूठ का प्रचार प्रसार कर के देश की जनता को बेवकूफ बनाया है। और ऐसी ढेरों कार्यक्रम है जो कि झूठ से भरे हुए हैं।

अब जी न्यूज़ को देखिए जैसे ही अमेरिका में बाइडेन की सरकार बनती है। वैसे ही यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बाइडेन की दोस्ती बताने लगते हैं। लेकिन कुछ दिन पहले इन्होंने ही लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रंप की दोस्ती का जिक्र किया था। और डोनाल्ड ट्रंप और इनकी दोस्ती पर बड़े-बड़े कार्यक्रम भी किए गए थे। लेकिन अब अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप हार चुके हैं तो इन्होंने भी दोस्त बदल दिया। इस ट्वीट को देखिए और समझने की कोशिश कीजिए।

ज़ी न्यूज़ में एक कार्यक्रम किया उस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और जो बाइडेन की तस्वीर को लगाया गया और बताया गया यह बहुत पुरानी और गहरी दोस्ती है। इस पर एक कार्यक्रम किया गया और दोस्ती कैसी है यह जनता को बताया लेकिन सिर्फ दोस्ती तो ट्रंप से गहरी थी। क्यों पता नहीं है देश के गरीबों को छुपा कर उनके स्वागत के लिए क्या नहीं किया कोरोनावायरस के दौर में लाखों की भीड़ इकट्ठी करके कार्यक्रम को कराया उनके लिए क्या नहीं किया।

आखिरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दोस्ती की तो ट्रंप से भी गहरी थी। और दूसरी बात इस देश में ट्रंप के भी भक्त हैं और जो लगातार जब चुनाव परिणाम आ रहे थे तब उनके लिए हवन किया जा रहा था और ऐसा नहीं है इस वीडियो में डोनाल्ड ट्रंप की जीत के लिए हवन हो रहा है उस वीडियो को कुछ नेताओं ने भी शेयर किया और कुछ और लोगों ने भी शेयर किया जो कि अपने आप को पत्रकार बताते हैं लेकिन लगातार वह अपने टीवी पर प्रोपेगेंडा चलाते हैं।

गोदी मीडिया

लेकिन अब अमेरिका में जो बाइडेन चुनाव जीत गए हैं और अब वहां के राष्ट्रपति जो बाइडेन होंगे। लेकिन जैसे ही अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप की हार हुई वैसे ही गोदी मीडिया के चैनलों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दोस्त को ही बदल डाला। उनके भाषणों को कौन भूल सकता है जो अमेरिका में लेकर आए थे और उन्होंने कहा था कि अबकी बार ट्रम्प सरकार । लेकिन अब गोदी मीडिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पुरानी दोस्ती जो बाइडेन से बता रहा है