विकास के मुद्दों को छोड़कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रैली में अलापा पुराना राग , जंगलराज के चाहते हैं कि…………

नरेंद्र मोदी

बिहार चुनाव भी हो रहे हैं और साथ ही साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी रैलियों को संबोधित भी कर रहे हैं लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक बार फिर यह बयान अब सुनने में आया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने बयान में कहा है कि जो जंगलराज बनाने वाले साथी हैं वह चाहते हैं कि भारत माता की जय और जय श्री राम ना बोले। सोशल मीडिया पर भी उस रैली का वीडियो वायरल हो रहा है।

इस समय देश में कोरोना संक्रमण फैला हुआ है लेकिन सबसे अच्छी बात यह है कि कोरोनावायरस संक्रमण कम होता हुआ भारत में दिख रहा है लेकिन दिल्ली में फिर लगातार यह मामले बढ़े हैं लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपनी रैलियों में तो बेरोजगारी और जनता के संबंधित मुद्दों पर चर्चा करनी चाहिए। और देश के किस राज्य में जंगलराज है यह भी सभी जानते हैं और कोर्ट ने भी अपने बयान में कह दिया है कि जंगलराज किस राज्य में है।

इस बयान को लेकर कई लोगों ने यह तक कहा है।कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस तरीके की बयान बाजी क्या  शोभा देती है। हालांकि चुनाव से पहले बिहार की कुछ तस्वीरें वायरल हुई थी जिसमें सड़कों को और स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को बेहाल दिख रहा था । लेकिन चर्चा तो उन मुद्दों पर होनी चाहिए थी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को विकास के जो मुद्दे हैं उन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपनी रैलियों में संबोधित करते हुए चर्चा करने चाहिए था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रैली को संबोधित करते हुए आगे भी काफी बयान दिए। और उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए यह बयान दिया कि जंगलराज के जो साथी हैं वह चाहते हैं कि आप लोग भारत माता की जय और जय श्री राम ना बोले। पहले भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बयान दिया था कि उन लोगों की पहचान कपड़ों से हो जाती है। तो क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी रैलियों में पुराने भाषणों पर लौट आए