वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपाई ने किसानों की आय दोगुनी होने पर कार्यक्रम में दिखाया था सच , लेकिन इस कार्यक्रम के बाद ……

बात उस वक्त की है जब वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेई एबीपी न्यूज़ में मास्टर स्ट्रोक कार्यक्रम करते थे उसमें वह ग्राउंड रिपोर्ट के जरिए जनता के सामने हकीकत लेकर आते थे। लेकिन पहले तो यह समस्या आई कि पुण्य प्रसून बाजपाई का जो कार्यक्रम था वह लोगों तक स्पष्ट नहीं जा पा रहा था इसको लेकर एबीपी न्यूज़ ने एक संदेश भी दिया। पुण्य प्रसून बाजपेई के के कार्यक्रम मास्टर स्टॉक के प्रसारण में त्रुटि आ रही है।

अगर आप यूट्यूब पर चंद्रमणि के नाम से मास्टर स्ट्रोक कार्यक्रम सर्च करेंगे तो आपको वह वीडियो मिल जाए और जहां तक है वह वीडियो आप सभी लोगों ने देखा ही होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो कांफ्रेंस के जरिए एक महिला से बात करते हुए नजर आ रहे हैं जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उस महिला से यह पूछ रहे हैं कि वर्तमान के समय में आप की आय कितनी हो गई है महिला ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए ही जवाब दिया कि सर पहले से दुगनी हो गई।

इसके बाद क्या था मीडिया में चर्चाएं चलने लगी कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शासनकाल में किसानों की आय दोगुनी हो गई लेकिन यह किसान की आय दोगुनी किस प्रकार हुई उससे वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेई ने अपने कार्यक्रम मास्टर स्ट्रोक में बताया। ग्राउंड रिपोर्टिंग में पता चला कि चंद्रमणि को पहले से ही बता दिया गया था कि जब प्रधानमंत्री यह पूछने की आय कितनी हो गई है तो तब उन्हें यही सवाल का जवाब देना है कि पहले से दोगुनी हो गई है।

और इसके बाद उस महिला ने एबीपी न्यूज के रिपोर्टर को बताया कुछ लोग आए थे और उस महिला चंद्रमणि को बताया था कि आपको यह यह कहना है। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की तो चंद्रमणि ने वही बातें कहीं थी जो लोगों ने उसे पहले बताया था। लेकिन जब इसका खुलासा वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेई ने अपने कार्यक्रम में किया और इसके बाद एबीपी न्यूज़ से उन्हें इस्तीफा देना पड़ा।

अब आप सोच सकते हैं कि पुण्य प्रसून बाजपेई एबीपी न्यूज़ के कार्यक्रम मास्टर स्ट्रोक किसानों की आय दोगुनी होने का खुलासा नहीं करते तो क्या इस बात का पता चल पाता। क्योंकि गोदी मीडिया के बाकी चैनलों में इस बात का सत्यापन भी हो गया था कि किसानों की आय दोगुनी हो गई है लेकिन किसानों की आय दोगुनी कैसे हुई और कब हुई यह किसानों को पता ही नहीं चला।

लेकिन जब वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेई ने अपने कार्यक्रम मास्टर स्ट्रोक में इसका खुलासा हुआ तब यह आय दोगुनी वाला मामला बिल्कुल स्क्रिप्टेड निकला। सोचिए टीवी पर जो आपको दिखाया जाता है उससे सच्चाई कितनी दूर है। वहां टीवी पर किसानों की आय दोगुनी होने पर एंकर जश्न मनाने लगे और बिना किसी प्रमाण के यह दावा करने लगे कि किसानों की आय दोगुनी हो गई है।

लेकिन अब वही मीडिया जब किसान सड़कों पर है तो उन्हें नहीं दिखा पा रही है। सोशल मीडिया पर लगातार लोग किसानों के प्रदर्शन की वीडियो अपलोड कर रहे हैं। लेकिन मुख्यधारा की मीडिया का ध्यान कहीं और है। जिस तरीके से मीडिया और सरकार किसानों के बिल को समझा रही है। उसी तरीके से चंद्रमणि की आय दोगुनी होने को भी मीडिया और सरकार समझा रही थी लेकिन हकीकत कुछ और ही निकली।