PM नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के संबोधन करने से पहले ही यूट्यूब पर होने लगे डिसलाइक , शाम 6:00 बजे करेंगे राष्ट्र को संबोधित

PM

PM नरेंद्र मोदी एक बार फिर राष्ट्र को संबोधित करने जा रहे हैं और PM नरेंद्र मोदी आज शाम 6:00 बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे। और इस कार्यक्रम की जानकारी उन्होंने ट्वीट करके देश की जनता को दी इसके बाद क्या हुआ भारतीय जनता पार्टी के यूट्यूब चैनल पर इस वीडियो यानी PM नरेंद्र मोदी के संबोधन के कार्यक्रम का स्ट्रीमिंग लिंक अपलोड कर दिया गया।

लेकिन जैसे ही PM नरेंद्र मोदी ने यह जानकारी ट्वीट करके दी कि आज शाम को वह राष्ट्र को संबोधित करेंगे। और उसके बाद यूट्यूब पर देखा गया कि PM नरेंद्र मोदी का वह कार्यक्रम 6:00 बजे लाइव हो जाएगा और उस कार्यक्रम का नाम है प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का राष्ट्र के नाम संदेश। लेकिन जैसे ही लोगों ने यूट्यूब पर इस कार्यक्रम का थंबनेल दिखा लोगों ने वैसे ही इस वीडियो को डिसलाइक करना शुरू कर दिया ।

PM मोदी के कार्यक्रम मन की बात  को लोगों ने किया था डिसलाइक

लेकिन यह कोई नई बात नहीं है पहले भी PM नरेंद्र मोदी ने जब राष्ट्र को संबोधन या मन की बात कार्यक्रम किया उस वक्त भी PM नरेंद्र मोदी के वीडियोस को डिसलाइक किया गया लेकिन इसके बाद आरोप यह लगाया गया कि यह जितने भी डिसलाइक हो रहे हैं वह सब तुर्की से हो रहे हैं और यह बात किसी और ने नहीं बीजेपी आईटी सेल के मुखिया अमित मालवीय ने कही थी। लेकिन जैसे ही डिसलाइक पर अमित मालवीय ने यह बयान दिया।

PM

उसके बाद PM नरेंद्र मोदी का दूसरा कार्यक्रम आया और फिर लोगों ने डिसलाइक के साथ-साथ उसमें कमेंट लिखना भी शुरू कर दिया। यूजर्स ने अजीबोगरीब कमेंट लिखें किसी ने लिखा मैं पटना से हूं जो कि तुर्की में आता है और सबसे बड़ी बात यह है कि जितने भी यूजर थे उन्होंने कमेंट में कुछ ऐसे ही मिलते जुलते कमेंट लिखे थे। यह कमेंट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पिछले कार्यक्रमों में डिसलाइक के साथ लिखे गए थे।

और यह डिसलाइक के साथ-साथ कमेंट तब लिखे गए थे जब बीजेपी आईटी सेल के मुखिया अमित मालवीय मालवीय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम को डिसलाइक होने पर यह कहा था कि जितने भी डिसलाइक हो रहे हैं यह तुर्की से हो रहे हैं। लेकिन आपको यह भी बता दें जिस दौर में PM नरेंद्र मोदी के कार्यक्रमों को डिसलाइक किया जा रहा था।

और उसी भारत का युवा बेरोजगार रोजगार के लिए सवाल उठा रहा था। और इस सरकार को जगाने के लिए और भारत में बढ़ती बेरोजगारी की समस्याओं को लेकर भारत के युवा सरकार के सामने थाली बजाकर प्रदर्शन कर रहे थे। लेकिन यह प्रदर्शन बेरोजगार छात्र उसी तरीके से कर रहे थे जिस तरीके से जब देश में कोरोनावायरस संक्रमण फैलना शुरू हुआ था। उस वक्त स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को ठीक करने की बजाय PM नरेंद्र मोदी पूरे देश में लोगों से थालियां बजबा रहे थे

लेकिन जब बेरोजगार युवा रोजगार को लेकर परेशान हो गए क्योंकि बिना तैयारी के केंद्र सरकार ने लॉकडाउन को लगाया फिर उसके बाद करोड़ों लोगों की नौकरियां चली गई जिन फैक्ट्रियों में लोग काम करते थे वह भी कोरोनावायरस किस वजह से बंद हो गई थी। और जैसे ही लोग डाउन को खोला गया राजनेताओं ने चुनाव की तैयारी करना शुरू कर दिया आपने वह तस्वीरें भी देखी होंगी तब देश में लॉकडाउन को अनलॉक किया गया था वही तस्वीर है जिसने एलईडी लगाकर रैली हो रही थी।

लेकिन जब भारत के बेरोजगारों युवा रोजगार के लिए सरकार से सवाल करने लगे और कमेंट में रोजगार को लेकर टिप्पणी करने लगे तो भारतीय जनता पार्टी को यह भी अंदाज पसंद नहीं आया फिर उन्होंने क्या किया लाइक डिसलाइक की काउंटिंग को बंद कर दिया गया यानी इसके बाद यह हुआ कि अगर आप PM नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम को लाइक या डिस लाइक करते हैं तो उसकी काउंटिंग आपको दिखाई नहीं देगी।

देश में कोरोनावायरस संक्रमण था और लोगों को यह निर्देश उस समय दिए गए थे कि कम से कम 2 गज की दूरी बनाए रखें सड़कों पर भीड़ ना लगाएं लेकिन इन निर्देशों का पालन करते हुए युवाओं ने PM नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम में कमेंट के जरिए सरकार से सवाल किया। और इसके बाद छात्रों ने सड़क पर ताली बजा कर ताली बजा कर प्रदर्शन किया। लेकिन सबसे बड़ी दुख की बात यह है कि किसी भी मुख्यधारा के मीडिया चैनल यानी गोदी मीडिया ने छात्रों के प्रदर्शन पर कवरेज ही नहीं किया।