parle-G अब नफरती एजेंडा चलाने वाले न्यूज़ चैनलों को नहीं देगा विज्ञापन , क्या गोदी मीडिया के चैनलों को इसी तरीके से.. .

parle-G

बजाज कंपनी के बाद अब पारले जी ने भी एक बड़ा कदम उठाया है बजाज ने पहले जो न्यूज़ चैनल के एंकर अपनी डिबेट में जहरीले कार्यक्रम करते थे उन कार्यक्रमों की वजह से बजाज कंपनी ने उन न्यूज़ चैनल को विज्ञापन देना बंद कर दिया था लेकिन इसके बाद पारले जी कंपनी ने भी एक बड़ा कदम उठाया । इस कंपनी ने भी जो न्यूज़ चैनल अपने कार्यक्रमों में नफरती एजेंडा चलाते हैं उन न्यूज़ चैनल को अब पारले जी भी विज्ञापन नहीं देगा।

और इस कदम से पारले जी कि सोशल मीडिया पर काफी प्रशंसा भी हो रही है लोग जमकर तारीफ कर रहे हैं। और सोशल मीडिया पर यह भी अंदाजा लगाया जा रहा है कि अगर इसी तरीके से नफरती एजेंडा चलाने वाले न्यूज़ चैनलों से कंपनियां विज्ञापन हटाती रहेंगे तो न्यूज़ चैनलों को सुधारा जा सकता है। न्यूज़ चैनलों के अगर कंटेंट को देखा जाए तो आप यूट्यूब पर जा कर देखिए कि किस तरीके से लगातार प्राइम टाइम में जहरीले कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं।

टीआरपी के लिए किस तरीके के कार्यक्रमों को बनाया जा रहा है छप्पर फाड़ टीआरपी ली जा रही है। लेकिन जनता के जो मुद्दे हैं उनसे गोदी मीडिया बहुत दूर है गोदी मीडिया अब टीआरपी की दौड़ में है। लेकिन टीआरपी की दौड़ के बाद अब टीआरपी से छेड़छाड़ भी शुरू हो गई और इसका खुलासा मुंबई पुलिस ने किया है । बेवजह की बातों पर लोगों को इकट्ठा करके डिबेट होती हैं विपक्ष को निशाना बनाया जाता है।

लेकिन देश में मौजूदा केंद्र सरकार कोरोनावायरस को काबू करने में बिल्कुल असफल साबित हुई इस पर कोई चर्चा नहीं हुई कोरोनावायरस संक्रमण फैलने के दौरान ही लाखों की संख्या में नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम का आयोजन हुआ गोदी मीडिया ने उस पर भी कोई चर्चा नहीं की। लाखों लोग सड़कों पर पैदल चलकर अपने घरों को पहुंचे इस पर भी कोई चर्चा नहीं हुई । लेकिन सभी गोदी मीडिया चैनल सत्ता की वाहवाही करके अपने आपको नंबर वन बता रहे थे। लेकिन इन दोनों कंपनियों की तरह बाकी कंपनियां भी ऐसा ही करें तो हो सकता है गोदी मीडिया से नफरत कम हो जाए।