क्या सब कुछ बेच देगी मोदी सरकार , अब इस कंपनी को बेच रही है मोदी सरकार तीन कंपनियों ने लगाई बोली

वह फिल्मी अंदाज में डायलॉग तो सबको याद ही होगा सौगंध मुझे इस मिट्टी की मैं देश नहीं बिकने दूंगा। लेकिन जिस मिट्टी की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बात कर रहे थे आज उसी मिट्टी से अनाज पैदा करने वाला अन्नदाता सर्द रातों में ठंडी सड़कों पर बैठकर आंदोलन कर रहा है। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने मित्रों के ही बारे में लगातार सोच रहे हैं। और आज कुछ यह नई खबर नहीं है इससे पहले भी कई कंपनियों की बोली लग चुकी है।

देश में लगातार निजी करण हुआ और उस निजी करण को लेकर लोगों ने नाराजगी भी जताई। लेकिन हमारे देश का मीडिया उसने इस पर बिल्कुल चुप्पी साध ली। लेकिन अब बीपीसीएल को केंद्र सरकार बेच रही है और इसके लिए तीन बड़ी कंपनियों ने शुरुआती बोली लगा दी है। आपको बता दें केंद्र सरकार दूसरी सबसे बड़ी तेल रिफाइनरी और पेट्रोलियम कंपनी में बीपीसीएल को बेच रही है। इसमें यह भी बताया गया है कि बीपीसीएल में सरकार अपनी हिस्सेदारी को 52.98 को बेच रही है

लेकिन अब सोचिए वो डायलॉग कहां गया जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रैलियों में लाखों लोगों को संबोधित करते हुए कहा था कि सौगंध मुझे इस मिट्टी की मैं देश नहीं बिकने दूंगा अब यह बताइए कि देश मैं यह क्या हो रहा है जब देश की कंपनियां भी बिक रही हैं। और देश में कई बड़ी कंपनियों की बोली लग चुकी है। और मित्रों का विकास करने के चक्कर में कई सरकारी कंपनियां घाटे में चल रही है लेकिन इससे मोदी सरकार को कोई दिक्कत नहीं।

आज तक चैनल के एक आर्टिकल में भी इस खबर को शामिल किया गया है जिसमें उस आर्टिकल में यह छापा गया है कि बीपीसीएल को केंद्र सरकार बेच रही है और वेदांता कंपनी के साथ-साथ तीन बड़ी कंपनियों ने इसके शुरुआती बोली लगाई है। लेकिन अब अगर सोचा जाए तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तो कुछ और कहते थे और देश में लगातार कुछ और हो रहा है। खैर उस फिल्मी डायलॉग को तो सुना ही होगा जो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था।