जब तक दवाई नहीं , तब तक ढिलाई नहीं , ऐसा कहने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद ही भीड़ के साथ खुशियां मना बैठे

दवाई

देश में जब कोरोनावायरस संक्रमण लगातार बढ़ रहा था और ऐसा नहीं है कि कोरोनावायरस संक्रमण हमारे देश से खत्म हो गया हो बल्कि कोरोनावायरस संक्रमण के मरीज हर रोज पचास हजार के करीब पाए जा रहे हैं लेकिन पहले की तुलना में अब कोरोनावायरस कम दिखाई दे रहा है हालांकि भारत दूसरे नंबर पर कोरोनावायरस संक्रमण मामले में है और अमेरिका पहले नंबर पर इस मामले में है। अमेरिका में प्रतिदिन एक लाख से ज्यादा कोरोनावायरस संक्रमित मरीज पाए जा रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अभी कुछ दिन पहले जो राष्ट्र को संबोधित किया था तो उन्होंने राष्ट्र को संबोधित करते हुए यह कहा था कि जब तक दवाई नहीं तब तक दिलाई थी दवाई मतलब वैक्सीन जो बिहार वासियों को आने वाले समय में फ्री बांटने का वादा किया गया है। लेकिन जब तक दवाई नहीं बैठती नहीं तब तक कोई ढिलाई नहीं और ढिलाई मतलब जो नियम कोरोनावायरस से बचाव के लिए हैं उन्हें अपनाया जाए।

और उन नियमों को अपनाने के लिए कोई ढिलाई नहीं होनी चाहिए ऐसा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ दिन पहले राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा था लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह राष्ट्र को संबोधित तक किया था जब कोरोनावायरस सेंटर में मरीजों की संख्या देश में कम आने लगी थी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उसी वक्त देश को संबोधित किया देश के लोगों से भी यही अपील की कि मास्क को लगाएं और 2 गज की दूरी रखें।

लेकिन जब बिहार में चुनाव हुए और एनडीए को बहुमत के साथ ही प्राप्त हुई तब क्या हुआ था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हजारों की भीड़ के सामने जीत का जश्न मनाते हुए दिखे। लोगों की ओर उन्होंने दो उंगलियों को दिखाया। लेकिन जिस वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यह सब एक बिल्डिंग की छत पर से कर रहे थे और उसके नीचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने भारी भीड़ थी आप तस्वीरों में देख सकते हैं।

लेकिन क्या प्रधानमंत्री उस कथन को भूल गए जो कुछ दिन पहले राष्ट्र को संबोधित करते हुए । कि जब तक कोरोनावायरस की वैक्सीन ना मिल जाती है तब तक सभी देशवासियों को 2 गज की दूरी बनाकर रखनी है और मास्क के जरूर लगाना है। यहां क्या हो रहा है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने हजारों की भीड़ खड़ी हुई है लोग एक दूसरे से सट कर खड़े हुए हैं। लेकिन प्रधानमंत्री कहीं ना कहीं अपने बयान कि खुद धज्जियां उड़ा रहे हैं।

क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ही कुछ दिन पहले राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा था कि जब तक दवाई नहीं तब तक कोई भी ढिलाई नहीं लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद अब ढिलाई बरत रहे हैं। क्योंकि देश में कोरोनावायरस संक्रमण अभी बिल्कुल खत्म नहीं हुआ है बल्कि हर रोज कोरोनावायरस संक्रमित मरीज पचास हजार के करीब पाए जा रहे हैं और यह भी नहीं भूला जा सकता कि भारत कोरोनावायरस संक्रमण के मामले में दूसरे नंबर पर है।

जिस वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बि छत पर आते हैं और सबसे पहले अपनी मास्क को उतारते हैं और फिर उनके सामने जो भीड़ आपस में एक दूसरे से सटकर खड़ी होती है उसकी ओर दो उंगली करके इशारा करते हैं। लोगों को तो नसीहतें भी दी जा रहे हैं कि मास्क को पहनिए । दो ग़ज़ दूरी बना कर भी रखिए। लेकिन इस वीडियो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद इस नियम की धज्जियां उड़ाते हुए नजर आ रहे हैं।