देखें आज से कई साल पहले भारतीय जनता पार्टी के नेता भी भारत बंद का समर्थन कर चुके हैं ……

किसानों का आंदोलन तेज होता जा रहा है। और किसान अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं वहीं कई राज्यों से यह भी खबरें आई हैं। कि किसानों ने अब रेल रोको आंदोलन शुरू कर दिया है लेकिन यह आंदोलन कोई नया नहीं है पहले भी इसी प्रकार के आंदोलन हुए थे। और उस वक्त देश की जनता ने भी इस आंदोलन का स्वागत किया था और मीडिया ने भी अपनी अहम भूमिका निभाई थी जो जिम्मेदारी मीडिया को निभानी चाहिए थी।

2020 का साल चल रहा है लेकिन अब 10 साल पहले का एक ट्वीट आपने ऊपर देखा होगा कि 10 साल पहले भी भारतीय जनता पार्टी के नेता और बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय भी भारत बंद करने का ऐलान कर चुका है । और उस समय जब आंदोलन हुए थे तो डीजल पेट्रोल महंगाई इन सभी मुद्दों को लेकर आंदोलन हुए थे मीडिया ने भी उस वक्त सरकार से कड़े तेवर में सवाल पूछे थे क्योंकि उस वक्त देश की जनता ने भी इस आंदोलन का समर्थन किया था।

सोचने वाली बात है आज भी वही दिन है किसान अपनी मांगों के लिए आंदोलन कर रहे हैं महंगाई भी लगातार बढ़ रही है डीजल पेट्रोल ना जाने कहां से कहां पहुंच गया इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ कि पेट्रोल से आगे डीजल निकल गया हो लेकिन मोदी सरकार में यह देखने को मिला है कि पेट्रोल से आगे डीजल निकल गया है। कीमतें लगातार बढ़ रही हैं हालांकि कुछ आंदोलन करने वालों ने यह तक बताया था कि पेट्रोल ₹35 मिलेगा।

उसके बाद एक और ट्वीट उसमें लिखा है कि मैं भारत बंद का समर्थन करती हूं क्या आप करते हैं। भारतीय जनता पार्टी की नेता प्रीति गांधी हैं जो कि आज से कुछ साल पहले भारत बंद का समर्थन करते हुए दिखाई दे रहे हैं मई 2012 का इनका ट्वीट आज भी ट्विटर पर मौजूद है जो बता रहा है कि भारत बंद का समर्थन यह नेता कर चुके हैं। ठीक उसी तरीके से जिस तरीके से इन लोगों ने भारत बंद का समर्थन किया था ऐसे ही किसान और कुछ विपक्ष के नेता भी भारत बंद का समर्थन कर रहे हैं।