बड़ी खबर : 69 हज़ार शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़े मामले में STF ने बीजेपी नेता को किया गिरफ्तार , कई बड़े राज खुलेंगे

69 हज़ार शिक्षक

69000 शिक्षक भर्ती घोटाले में लंबे समय से चल रहे फरार भारतीय जनता पार्टी के नेता चंद्रमा यादव को एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन हम आपको यह बता दें कि यह शख्स चंद्रमा यादव पहले टीईटी 2020 के फर्जीवाड़े में भी गिरफ्तार हुआ था। लेकिन पुलिस 69000 शिक्षक भर्ती घोटाले मामले में बीजेपी नेता चंद्रमा यादव को गिरफ्तार करने का लगातार प्रयास कर रही थी। और पुलिस की पूरी टीम बीजेपी नेता चंद्रमा यादव को खोज रही थी।

चंद्रमा यादव

और फिर पुलिस के हाथ एक बड़ी सफलता लगी। बीजेपी नेता चंद्रमा यादव को 69000 शिक्षक भर्ती घोटाले मामले में हिंदू हॉस्टल चौराहे के पास से गिरफ्तार किया गया है। और जब इस मामले में इस शख्स की गिरफ्तारी हुई है जो कि भारतीय जनता पार्टी का नेता है तो कई बड़े राज खुलने की आशंका है। आपको यह भी बता दें कि 69000 शिक्षक भर्ती घोटाले में यह बीजेपी नेता चंद्रमा यादव मुख्य आरोपी था।

और 69000 शिक्षक भर्ती घोटाले में इस शख्स यानी बीजेपी नेता चंद्रमा यादव को गिरफ्तार कर लिया गया है। और इसमें कई और लोग भी शामिल हैं। और जो इस मामले में आरोपी गिरफ्तार चल रहे थे इसको लेकर डिप्टी एसपी नरेंद्र कुमार जो कि एसटीएफ के डिप्टी एसपी हैं उन्होंने इन आरोपियों की संपत्ति कुर्क करने की कोर्ट से मांग की थी। और यही नहीं जो आरोपी इस मामले में फरार चल रहे थे उनके घरों पर कुर्की का नोटिस भी लगाया गया था।

जब यूपी में सबसे बड़े घोटाले जो कि 69000 शिक्षक भर्ती का था उसकी खबर बड़े-बड़े न्यूज़ चैनल पर दिखाई भी नहीं दी। छात्र सोशल मीडिया पर मांग करते रहे कि 69000 शिक्षक भर्ती घोटाले की कवरेज हो और इस पर खुलासा हो कि आखिर इसमें कौन-कौन लोग जुड़े हुए हैं। और उस वक्त इसमें बीजेपी के नेता चंद्रमा यादव का नाम आया था जो कि आज उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।