बड़ी खबर : युवा छात्रों ने बढ़ती बेरोजगारी और निजीकरण को लेकर टॉर्च , दीया , मोमबत्ती , आदि ज लाकर किया प्रदर्शन

आज देश के युवा बढ़ती बेरोजगारी और निजीकरण को लेकर अपने घर पर ही प्रदर्शन कर रहे हैं और यह प्रदर्शन ठीक उसी तरीके का है जैसे आज से कुछ दिनों पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश से अपील की थी। लेकिन दोनों में थोड़ा फर्क है उस समय लोगों ने पटाखों और फुलझड़ियां का इस्तेमाल करके बेबजह खुशियां मनाई थी । और उस खबर को मुख्यधारा की मीडिया चैनलों में भी जमकर कवरेज हुई थी।

लेकिन अब दास्तान कुछ अलग है बिल्कुल उसी तरीके से यह छात्र मौजूदा सरकार से रोजगार पर और लगातार हो रहे निजी करण पर सवाल कर रहे हैं। यह छात्रों को छात्र है पिछले कई सालों से रोजगार को लेकर परेशान हैं । आज से कई सालों पहले जब रोजगार पर सरकार से सवाल किया गया तब युवाओं छात्रों को पकौड़ा तलने की सलाह दी गई थी। युवाओं के पास इस वक्त रोजगार नहीं है।

करोड़ों लोगों की नौकरियां जा चुकी है और कोरोनावायरस थमने का नाम नहीं ले रहा है भारत में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या भी लगातार तेजी से बढ़ती हुई जा रही है। भारत में कोरोनावायरस काबू होता बिल्कुल नही दिख रहा है। लोगों के जो मुद्दे हैं टीवी तक नहीं पहुंच पा रहे हैं लेकिन टीवी पर किस प्रकार की खबरें चल रही हैं आपको किस तरीके की खबरें टीवी पर दिखाई जा रही हैं।

लेकिन जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मोमबत्ती आदि की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के अपील की थी तब मुख्यधारा की मीडिया से उन्होंने उस पर जमकर का कबरेज की थी लेकिन आज जब यह युवा बेरोजगारी और नहीं करण को लेकर सरकार से सवाल पूछ रहे हैं मुख्यधारा का मीडिया कवरेज क्यों नहीं कर पा रहा है। भारत में बेरोजगारी छात्र युवा अपने घर पर भी बैठ कर रहे हैं और सोशल मीडिया पर अपनी फोटो और वीडियो को अपलोड कर रहे हो।

जो मुख्य मुद्दा है बेरोजगारी महंगाई और जनता से संबंधित मुद्दे हैं वह मुख्यधारा की पास नहीं पहुंच पा रहे हैं। लेकिन टीवी पर पिछले दिनों रिया चक्रवर्ती को लेकर जबरदस्त रिपोर्ट की जा रही थी। लेकिन वहीं अब कंगना पर मुख्यधारा की मीडिया लगातार कवरेज कर रही है और जो मुख्यधारा की मीडिया में एंकर हैं वह भी लगातार कंगना रिया चक्रवर्ती को लेकर ट्वीट करते हुए नजर आ रहे हैं।

लेकिन आज जो छात्र मौजूदा सरकार से सवाल पूछ रहे हैं क्या इस पर डिबेट होगी। क्योंकि सोशल मीडिया पर लगातार छात्र मोमबत्ती और टॉर्च के साथ अपनी फोटो और वीडियो अपलोड कर रहे हैं और मौजूदा सरकार से बेरोजगारी और निजी करण को लेकर सवाल खड़े कर रहे हैं। और इस प्रदर्शन में कुछ बड़े वरिष्ठ लोगों ने भी ट्वीट किया है और वह इस प्रदर्शन में समर्थन करते हुए दिख रहे हैं।

देश के हर कोने से छात्रों ने अपनी तस्वीरें सोशल मीडिया पर अपलोड की। और अपनी समस्या को लेकर भी ट्वीट करके बताया। क्योंकि लोगों की करोड़ों नौकरियां अब तक जा चुकी हैं। और अर्थव्यवस्था को लेकर क्या हालात हैं उसकी खबर भी मुख्यधारा की मीडिया चैनल पर नहीं आ पा रही है।