जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी USISP के सम्मेलन के संबोधन का वीडियो बीजेपी के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर अपलोड हुआ तब …..

जब से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात आखरी बार की है तब से उनके कार्यक्रम पर डिसलाइक की बौछार हो रही है। यूट्यूब चैनल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हर कार्यक्रम पर डिसलाइक किए जा रहे हैं। लेकिन इसी बीच बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय यह दावा कर रहे हैं कि यह डिसलाइक भारत के नहीं है यह विदेश से हो रहे हैं। लेकिन इसी कार्यक्रम में उन विदेशियों ने भी अपनी पहचान की पुष्टि कर दी।

आपको बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 3 सितंबर को USISP के सम्मेलन के संबोधन को जब भारतीय जनता पार्टी के आधिकारिक यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया गया तब वहां भी लोग इसे डिस लाइक करने लगे। यह कार्यक्रम 5 दिन चलेगा और यही कार्यक्रम 31 अगस्त से शुरू हुआ है। लेकिन आपको बता दे की यह कार्यक्रम भारत-अमेरिका सामरिक साझेदारी को लेकर है।

लेकिन इस वीडियो को अपलोड करते ही 12 घंटे में एक लाख से ज्यादा लोगों ने नापसंद किया लेकिन सबसे बड़ी बात यह थी कि कमेंट में लोग युवा नौकरी को लेकर और परीक्षाओं को लेकर सवाल पूछ रहे थे। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम को अपलोड किया था तब भी उनके साथ यही हुआ था भारत के युवा नौकरी को लेकर और परीक्षाओं को लेकर बेरोजगारी को लेकर सवाल पूछ रहे थे।

लेकिन आपको बता दें कि बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय जो दावा कर रहे थे। किए डिसलाइक विदेशों से हो रहे हैं। छात्रों ने इसकी पुष्टि भी की । यूट्यूब पर एक यूजर ने लिखा मैं यूपी से हूं डिसलाइक करने के लिए दुबई आया हूं। एक और यूजर ने लिखा डिसलाइक तो उत्तर प्रदेश से कर रहा हूं जो मंगल ग्रह पर है अकॉर्डिंग टू मीडिया। आप ट्वीट किए गए इस तस्वीर में देखें।