गुजरात में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष की रैली में जुटी भीड़ , रैली के दौरान भीड़ में बिना मास्क के दिखे लोग , लेकिन कोरोनावायरस …..

वैसे तो सरकार लोगों को लगातार निर्देश दे रही है जब से देश में कोरोनावायरस संक्रमण फैला है और शादियों में भी ज्यादा लोग इकट्ठे करने की आप को इजाजत नहीं है। और किसी के अंतिम संस्कार में भी ज्यादा लोग इकट्ठे करने की अनुमति नहीं है। लेकिन क्या यह नियम कानून सिर्फ जनता के लिए ही है। क्योंकि टीवी पर अखबारों में लोगों को यह निर्देश दिए जा रहे हैं कि ज्यादा सार्वजनिक जगहों पर भीड़ ना लगाएं दूरी बनाए रखें क्योंकि देश में कोरोनावायरस संक्रमण तेजी से फैल रहा है।

पिछले दिनों कई बड़े नेता कोरोनावायरस संक्रमण की चपेट में आ गए थे और ठीक हो कर घर भी लौट चुके हैं लेकिन क्या यह लोग कोरोनावायरस को लेकर सावधानियां बरत रहे हैं। क्योंकि इस वक्त भारत में कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा आ रही है कल 80 हज़ार से ज्यादा मामले आए हैं। लेकिन इसके बावजूद भी गुजरात के भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल ने रैली निकाली।

सीआर पाटील की रैली में सड़कों पर भीड़ दिखाई दी। अधिकांश लोगों के चेहरे पर मास्क भी नहीं थे। रैली में लोगों की सड़कों पर भीड़ दिखाई दी और जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होता हुआ बिल्कुल भी नहीं दिखा। देश में कोरोनावायरस की वजह से सभी धर्मों के त्यौहारों तक पर रोक लगा दी है क्योंकि लोग इकट्ठे ना हो पाए। और कोरोनावायरस संक्रमण को काबू किया जा सके। लेकिन जनता तो सरकार के नियमों का पालन कर रही है ।

लेकिन क्या इस देश के राजनेता कोरोनावायरस को लेकर नियम और कानून का पालन कर रहे हैं। और चुनाव की भी लगातार तैयारी चल रही है देश में इस वक्त कोरोनावायरस संक्रमण तेजी से फैल रहा है। और जहां भी चुनाव होने जा रहे हैं वहां चुनाव को स्थगित कर देना चाहिए आगामी चुनाव को आगे बढ़ा देना चाहिए और सरकार को स्वास्थ्य व्यवस्था पर ध्यान देने की जरूरत है ना कि चुनाव रैलियों पर।