सुप्रीम कोर्ट ने मुहर्रम के मौके पर जुलूस निकालने की अनुमति देने से किया इनकार , कहा विशेष समुदाय को कोरोना फैलाने के आरोप….

देश में इस वक्त कोरोनावायरस दुनिया में सबसे ज्यादा तेजी से फैल रहा है पिछले 24 घंटे में भारत में सबसे ज्यादा मामले आए हैं जो और दो देश जो पहले और दूसरे नंबर पर संक्रमित मामलों में चल रहे हैं उनमें भी इतने कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या नहीं आ रही है। और भारत में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार तेजी से बढ़ रही है।

वहीं हर बार की तरह इस बार भी मोहर्रम आने वाले हैं। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने इस बार मोहर्रम का जुलूस निकालने की अनुमति देने से मना कर दिया। गुरुवार को एक याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने अपने बयान में कहा कि अगर मोहर्रम पर ताजिया का जुलूस निकालने की इजाजत दी गई। तो फिर एक विशेष समुदाय को कोरोनावायरस ने को लेकर निशाना बनाया जाएगा इसलिए अनुमति नहीं दी जा सकती।

क्योंकि पहले भी जब भारत में कोरोनावायरस धीरे-धीरे फैल रहा था तब दिल्ली के निजामुद्दीन में तबलीगी जमात का मामला सामने आ गया था और तबलीगी जमात के सहारे मीडिया ने सारे मुस्लिम समुदाय को टारगेट किया था और उस वक्त स्थिति यह आ गई थी कि कुछ लोग विशेष समुदाय को बहिष्कार करने लगे थे और यह काम किसी और ने नहीं मुख्यधारा की मीडिया ने किया था।

देश में कोरोना वायरस संक्रमण इस वक्त तेजी से फैल रहा है और इसके चलते हुए सारे भीड़भाड़ वाले त्योहारों , समारोह , पर अभी के लिए रोक लगनी चाहिए। परीक्षाएं भी निरस्त कर देनी चाहिए और कोरोनावायरस को रोकने के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं पर इस समय भी ध्यान देने की बहुत ज्यादा जरूरत है। क्योंकि इस वक्त दुनिया में सबसे ज्यादा कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या भारत में आ रही है।