सुशांत केस की CBI जांच सुशांत को इंसाफ दिलाने के लिए हो रही है , या महाराष्ट्र सरकार गिराने के लिए हो रही है , संबित पात्रा ने जो ट्वीट

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत केस की सीबीआई जांच अब होगी सुप्रीम कोर्ट से मंजूरी मिल गई है। लेकिन जो बात संबित पात्रा ने अपने ट्वीट के जरिए कही है यह बात रिपब्लिक टीवी के एंकर भी कह चुका है । उनका वह वीडियो सोशल मीडिया पर मौजूद है। लेकिन बात यहां आती है कि सीबीआई जांच किसी को इंसाफ दिलाने के लिए हो रही है किसी की सरकार गिराने के लिए हो रही है। संबित पात्रा ने जो ट्वीट किया है आप उस ट्वीट को देखिए

जैसे ही सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया वैसे ही संबित पात्रा ट्वीट कर देते हैं अपने ट्वीट में महाराष्ट्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहते हैं कि पहले महाराष्ट्र सरकार सो रिया था इसमें इन्होंने रिया शब्द का इस्तेमाल किया है उसके बाद यह लिखते हैं कि संजय रावत सुशांत सिंह परिवार को धो रिया था। यानी फिर एक बार इस शब्द में भी इन्होंने रिया शब्द का इस्तेमाल किया। इसके बाद भी ट्वीट में लिखते हैं कि अब मुंबई में सरकार रो रिया है।

और इसके बाद उन्होंने आगे लिखा कि दोस्तों जल्दी ही आप सुनेंगे कि महाराष्ट्र में सरकार जा रिया है । लेकिन सबसे बड़ी बात इन्होंने एक ट्वीट पहले भी किया था उसमें उन्होंने कहा था कि सुनने में आया है कि महाराष्ट्र सरकार अब रो रिया है । लेकिन ध्यान से देखेंगे इसमें इन्होंने कहीं भी सुशांत सिंह का नाम नहीं लिया है। सुप्रीम कोर्ट का फैसला तो सुशांत सिंह केस की सीबीआई जांच कराने को आया है लेकिन यहां पूरा फोकस महाराष्ट्र सरकार गिराने पर लगा हुआ है।

मीडिया में भी सुशांत सिंह की हर रोज नई नई खबरें प्रसारित की गई फोन नंबर की कॉल डिटेल निकाली गई यहां तक की एंकरों खुद फोन करके अपने टीवी पर कार्यक्रम भी चलाया। उसके बाद उन्होंने हेड लाइन बनाया कि जहां न पहुंचे सीबीआई वहां पहुंचा न्यूज़ चैनल। लेकिन आप इशारों को समझ सकते हैं कि यह न्याय की बात हो रही है या सरकार गिराने की बात हो रही है।

क्योंकि भारत में कोरोनावायरस की शुरुआत हुई थी उसी वक्त मध्य प्रदेश सरकार को गिराया था उसमें ज्योतिरादित्य सिंधिया को शामिल करके मध्यप्रदेश में एक सरकार बनाई गई। और इस सरकार को बनाने की वजह से लॉकडाउन को आगे बढ़ाया गया था क्योंकि लॉकडाउन लगने से लगभग 15 दिन पहले नई सरकार बनाकर शपथ ली गई थी। और उसके बाद राजस्थान सरकार को गिराने के लिए पूरी ताकत लगा दी लेकिन पायलट साहब उस पार खेमे में नहीं जा पाए।

हालांकि सचिन पायलट को लेकर मीडिया में कार्यक्रम भी किया गया था प्राइमटाइम कार्यक्रमों में सचिन पायलट को बताया गया था कि कांग्रेस में उन्हें सम्मान नहीं मिला। इस तरीके के मीडिया में कार्यक्रम चलाए गए कि सचिन पायलट को कांग्रेस पार्टी में बिल्कुल सम्मान नहीं मिला। और सचिन पायलट की भी जमकर वाहवाही की गई। लेकिन इसके बाद भी पायलट साहब इनके खेमे में नहीं आ सके।

आज जो भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा जो ट्वीट कर रहे हैं उस ट्वीट में कहीं भी सुशांत सिंह केस पर कोई फोकस नहीं है अगर आप उस ट्वीट को गौर से देखेंगे तो सारा फोकस महाराष्ट्र सरकार को गिराने को लेकर है। संबित पात्रा के ट्वीट को देखकर ऐसा लगता है कि सुशांत सिंह केस की सीबीआई जांच महाराष्ट्र सरकार को गिराने के लिए हो रही है क्या सुशांत सिंह को इंसाफ मिल पाएगा।