पाकिस्तान में अब कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या प्रतिदिन इतनी कम हो गयी है कि , उत्तर प्रदेश के .……पढ़े पूरी ख़बर

जब पूरी दुनिया में कोरोनावायरस का संक्रमण फैला तो दुनिया के सभी देशों में कोरोनावायरस का संक्रमण फैला शुरू हो गया। कुछ लोगों ने कोरोनावायरस से बचाव किया और कुछ देश कोरोनावायरस को खत्म भी कर चुके हैं न्यूजीलैंड में कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या ना के बराबर है। लेकिन पहले यह खबर आई थी कि न्यूजीलैंड कोरोनावायरस फ्री हो गया है उसमें कोई भी कोरोनावायरस संक्रमित मरीज नहीं है।

अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है लेकिन अब भारत भी उसी संख्या में शामिल हो गया है जो पहले और दूसरे नंबर पर कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों में देश आगे चल रहे हैं। पिछले 2 दिन लगातार भारत में कोरोनावायरस संगठन मरीजों की संख्या दुनिया में सबसे ज्यादा आई थी जिसको लेकर सोशल मीडिया पर प्रतिक्रियाएं भी दी गई थी लेकिन भारत में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों को लेकर सरकार कितनी सतर्क है ।

इटली में भी कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या एकदम बढ़ी थी और जिस वक्त इटली में कोरोना वायरस संक्रमण तेजी से फैल रहा था उस समय भारत में लॉकडाउन लगा हुआ था। इटली कोरोना वायरस संक्रमण को कम करने में लगा हुआ था और भरपूर प्रयास कर रहा था। हमारे देश में जब कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या सामने आई उस वक्त हमारा मीडिया तबलीगी जमात पर कोरोनावायरस का दोष मढ़ रहा था

कोरोनावायरस को कंट्रोल करने का वही समय था जिस समय लॉकडाउन को लगाया गया था लेकिन यह भी कहो कि कोरोनावायरस को रोकने का उससे पहले काफी समय था जिस पथ कोरोनावायरस संक्रमित मरीज पहला आया था। लेकिन अब भारत में कोरोना वायरस संक्रमण इतना फैल गया है कि इसमें अब नेता भी कोरोनावायरस के संक्रमण में आ गए हैं। भारत में हर दिन कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या 50 हज़ार से ऊपर जा रही है

भारत में अभी तक कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या पिछले 24 घंटे में 53 हजार से ऊपर चली गई है। वहीं महाराष्ट्र और आंध्रप्रदेश दोनों प्रदेशों में कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या 10,000 से ज्यादा पिछले 24 घंटे में आई है। दिल्ली की बात की जाए दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या पिछले 24 घंटे में एक हजार से ज्यादा आई है लेकिन यहां अगर देखा जाए पिछले दिनों कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या बिल्कुल कम हो गई थी लेकिन आज पिछले 24 घंटे में फिर एक हजार से ज्यादा आई है।

गुजरात अभी भी 1000 की स्थिति पर बना हुआ है गुजरात में ऐसा लग रहा है कोरोनावायरस संक्रमण बिल्कुल स्थिर हो गया है अगर आप पिछले दिनों से देखेंगे तो गुजरात में एक हजार के लगभग ही कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या आ रही है। आज गुजरात में 24000 जांच के सैंपल लिए गए हैं जिसमें से एक हजार से ज्यादा कोरोनावायरस पॉजिटिव पाए गए हैं। लेकिन गुजरात में पिछले 24 घंटे में कोरोनावायरस संक्रमित में मरीजों की संख्या एक हजार के लगभग ही आ रही है

लेकिन भारत में इतने केस रहे हैं लेकिन फिर भी कोरोनावायरस को लेकर कोई चिंता नहीं जिस तरीके से हमारा मुख्यधारा का मीडिया चैनल पाकिस्तान पर लगातार कवरेज करता रहा है। पाकिस्तान में कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या प्रतिदिन 400 से लेकर 500 तक के बीच में आ रही है। लेकिन इतनी ही लगभग संख्या में उत्तर प्रदेश के कानपुर में कोरोनावायरस संक्रमित मरीज पाए जा रहे हैं । पाकिस्तान की आबादी 21 करोड़ के लगभग है। जो कि उत्तर प्रदेश की आबादी के लगभग बराबर है। उत्तर प्रदेश में भी आबादी लगभग पाकिस्तान के बराबर है ।

लेकिन अगर उत्तर प्रदेश की बात की जाए तो उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोनावायरस मरीजों की संख्या 4000 से ज्यादा आई है। पाकिस्तान में 14 जून को सबसे ज्यादा कोरोनावायरस संक्रमित में मरीजों की संख्या आई थी 14 जून को कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या पाकिस्तान में 6825 आई थी लेकिन बाद में पाकिस्तान में कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या घटती हुई चली गई और अब 400 से लेकर 500 तक के बीच कोरोनावायरस संक्रमित मरीज पाए जा रहे हैं।

यानी आप साथ देख सकते हैं कि पाकिस्तान ने कोरोनावायरस को कहीं ना कहीं कंट्रोल किया है पाकिस्तान में अब कोरोनावायरस संक्रमण कम होता दिख रहा है लेकिन वही आंकड़ों पर अगर गौर की जाए तो भारत में कोरोना वायरस संक्रमण कहीं भी कम नहीं होता दिखाई दिया है बल्कि कोरोनावायरस संक्रमण लगातार भारत में बढ़ता ही गया है और संख्या इतनी बढ़ती चली गई कि आज संख्या 50 हजार के ऊपर जा पहुंची है जब से यह 50,000 संख्या पहुंची है तब से 50000 से कम मामले भारत में नहीं आए हैं।

जिस तरीके से अन्य देशों ने कोरोनावायरस संक्रमण पर काबू पाया है चाहे इटली और स्पेन हो न्यूजीलैंड हो पाकिस्तान हो , इन्हीं देशों की तरह भारत को भी कोरोना वायरस संक्रमण पर काबू पाने की जरूरत है। यदि यहां वक्त पर ध्यान नहीं दिया गया। तो कोरोनावायरस संक्रमण की संख्या कहां तक जा सकती है इसका कोई अंदाजा नहीं लगाया जा सकता। इसलिए भारत सरकार कोरोनावायरस को लेकर सतर्कता बरतें अधिक से अधिक जांच कराएं जिससे प्रतिदिन आने वाले मामले कम हो सके।