मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने नियमों की उड़ाई धज्जियां , कोरोनावायरस बिना पीपीई पहने राखी बंधबाई

भारत में जिस तरीके से कोरोनावायरस संक्रमण अब लगातार बढ़ रहा है उसी तरीके से लोगों में कोरोनावायरस को लेकर डर भी खत्म होता दिख रहा है मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कोरोनावायरस से संक्रमित हो गए थे और उन्होंने इसकी जानकारी अपने ट्विटर अकाउंट पर दी थी और उन्होंने यह भी कहा था कि जितने भी लोग मेरे संपर्क में आए हैं वह जल्द से जल्द कोरोनावायरस की जांच करा लें।

कोरोनावायरस किसी को भी हो सकता है। जो वहां डॉक्टर होते हैं कोरोनावायरस मरीजों का इलाज करते हैं हॉस्पिटल में वह भी बिना पीपीई किट कोरोना वार्ड प्रवेश नहीं करते हैं। अगर कोई पत्रकार भी कोरोना वार्ड में रिपोर्टिंग करने जाए तो वह भी अपने माइक पर पॉलिथीन लपेटकर और पीपीई किट पहनकर ही कोरोनावायरस प्रवेश करता है और रिपोर्टिंग करता है। कि कोरोनावायरस एक ऐसी बीमारी है जो संपर्क में आने के बाद यह संक्रमण दूसरे व्यक्ति में फैल जाता है।

लेकिन यहां क्या हो रहा है शिवराज सिंह चौहान जिनकी रिपोर्ट कोरोनावायरस पॉजिटिव आई थी और उसके बाद अस्पताल में भर्ती हो गए थे । उसके बाद उन्होंने राखी कोरोना वार्ड में ही बंधबाई । तस्वीरों में आप देख सकते हैं कि कोई भी पी पी ई किट नहीं पहने हुए। से बड़ी बात यह है कि साथ में एक बच्चा भी है जो सिर्फ मुंह पर मास्क लगाए हुए हैं । शिवराज सिंह की बहन को छोड़कर किसी के हाथों में गिलब्स नही है ।

क्योंकि कोरोनावायरस जरा से संपर्क में आने से फैल जाता है आप इन तस्वीरों में देखें ही होंगे इन्हें देखकर ऐसा लगता है कि क्या कोरोनावायरस संक्रमित मरीज से सिर्फ मास्क लगाकर मिला जा सकता है। दरअसल कोरोनावायरस किसी को घुसने की अनुमति नहीं होती है वह भी बिना पीपीई किट पहने बिना गिलब्स पहने। सबसे बड़ी बात यह है कि साथ में छोटा बच्चा भी है और वह सिर्फ मुंह पर मास्क पहने हुए हैं उसके हाथों में ना गिलब्स है । कोरोनावायरस संक्रमण तेजी से फैल रहा है इसलिए अपनी सुरक्षा स्वयं करें जितना हो सके उतना बचें।