वीडियो , गौरव वल्लभ बोले : 15 लाख खाते में नहीं आए , लेकिन भारत में कोरोना वायरस के केस 15 लाख आ गए , विस्तार से पढ़े पूरी ख़बर

भारत में कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या पिछले 24 घंटे में जिस वक्त हमें यह पोस्ट लिख रहे हैं अभी तक 26313 के आ चुके हैं अभी कई राज्यों की रिपोर्ट नहीं आई है दिल्ली में फिर एक बार 1035 कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या आई है लेकिन अभी कुछ दिन पहले दिल्ली में कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या 24 घंटे में मात्र 600 तक रह गई थी लेकिन आज और कल फिर बढ़ गई है।

वही बिहार कोरोनावायरस और बाढ़ से जूझ रहा है बिहार के कई गांव में बाढ़ का पानी घुस गया है और जिससे उन लोगों के घरों में पानी घुस जाने के कारण उनको रहने के लिए जगह नहीं है कुछ मददगार के ही तरीके से उन तक मदद पहुंचा रहे हैं लेकिन वही भारत के बिहार राज्य में कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही प्रतिदिन नए नए मामले सामने आ रहे हैं और कोरोनावायरस के बिहार में जो अस्पताल हैं उनकी हकीकत भी सामने आ रही है।

अब युवाओं के लिए नौकरी नहीं है और यह पहले से ही था जब कोरोनावायरस का संक्रमण नहीं था तब भी युवा नौकरी के लिए देश में परेशान थे नौकरी खोजने के लिए सवाल भी उठाते थे लेकिन उससे कुछ नहीं हुआ आज बेरोजगारी बहुत बढ़ गई है विदेश में जो लोग काम कर रहे थे वे अपने घरों में बैठकर आज आराम कर रहे हैं। और अब उन्हें भी कोई नौकरी नहीं है लेकिन अब जो कंपनियां चल रही थी लॉकडाउन और कोरोनावायरस की वजह से वो कंपनियां भी अब घाटे में जा रहे हैं।

भारत की अर्थव्यवस्था और जीडीपी पहले से ही चरमराई हुई थी और जब से भारत में कोरोनावायरस बड़ा है तब से भारत की अर्थव्यवस्था लगातार नीचे गिरती हुई चली गई लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि इस टीवी पर अर्थव्यवस्था पर सिर्फ विपक्ष ही सवाल कर रहा है लेकिन मीडिया इस पर ज्यादा बहस नहीं कर पाता है। जबकि अर्थव्यवस्था पहले से ही गिरती हुई चली आ रही है जब कोरोनावायरस शंकर में भारत में नहीं था।

भारतीय मुख्यधारा का मीडिया चैनल भी भारत की अर्थव्यवस्था को लेकर कोई ज्यादा बहस नहीं करता क्योंकि उससे ना तो रेटिंग आती है और ना ही बहस में मजा आता है। लेकिन भारत के मुख्यधारा के मीडिया चैनलों में बहस किस पर होती है वह आप जानते ही होंगे। आज भारत में 15 लाख से ज्यादा केस आ चुके हैं लेकिन आज भी कोरोनावायरस संक्रमण पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जा रहा है कि कैसे इस कोरोनावायरस संक्रमण को रोका जाए।

जब से भारत में 15 लाख केस कोरोनावायरस संक्रमण के आए हैं। तब से ट्विटर पर लोग सवाल पूछ रहे हैं कि भारत के लोगों के खाते में 15 लाख नहीं आए लेकिन 15 लाख कोरोनावायरस संक्रमण के केस आ गए ऐसा वो लोग इसलिए कह रहे हैं। क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब 2014 में चुनाव की तैयारी कर रहे थे तब उन्होंने वादा किया था कि भारत के प्रत्येक नागरिक के खाते में 15 लाख रुपए आएंगे

कांग्रेस के प्रवक्ता गौरव वल्लभ ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया है वह भी 15 लाख से संबंधित मौजूदा सरकार पर सवाल खड़े कर रहे हैं उन्होंने भी कहा है कि भारत में लोगों के खाते में 15 लाख नहीं आए लेकिन भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के 15 लाख केस आ गए और यह केस लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं प्रतिदिन आने वाले मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। देखिए गौरव वल्लभ का ये ट्वीट