यह हालत है आम नागरिक की , ट्रे में मासूम बच्चा , कंधे पर ऑक्सीजन का सिलेंडर , पढ़ें पूरी खबर

यह जो तस्वीर सामने निकल कर आई है यह एक किसी गरीब भारतीय नागरिक की है और वह गरीब भारतीय नागरिक अपने कंधों पर ऑक्सीजन का सिलेंडर लेकर चल रहा है उसके बराबर में उसकी पत्नी ट्रे में बच्चा लेकर चल रही है। यह स्थिति है बिहार की। और बिहार के मंत्री क्या कहते हैं कि बिहार में सब कुछ ठीक है। बिहार में जो पहले तस्वीरें आई है और यह तस्वीर जो आप देख रहे हैं क्या आपको लगता है बिहार में सब कुछ चंगा सी

यह जिस इलाके की बात है वहां का इलाका अश्विनी चौबे का इलाका है जो कि भारतीय जनता पार्टी के नेता हैं। तस्वीर को आप देखिए कि जब इस बच्चे के माता पिता इलाज कराने हॉस्पिटल जाते हैं तो उनके कंधे पर ऑक्सीजन का सिलेंडर रखा हुआ है और ट्रे में बच्चा रखा हुआ है और वह अस्पताल के चक्कर काट रहे हैं। और नतीजा यह हुआ कि इस नवजात को समय पर इलाज ना मिलने पर इसकी मृत्यु हो गई। सोशल मीडिया पर यह फोटो काफी वायरल हो रहा है और लोग बिहार की सरकार से सवाल पूछ रहे हैं

लेकिन सबसे बड़ी बात तो यह है कि जवाब देगा कौन । यह नवजात बच्चे और माता-पिता की जो तस्वीर हैं वह बिहार के बक्सर की है जो कि सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही है क्योंकि इसमें माता-पिता के बच्चे दोनों इतने आत्मनिर्भर हो गए हैं कि वह मासूम को ट्रे में और ऑक्सीजन का सिलेंडर कंधे पर रखकर अस्पतालों के चक्कर काट रहे हैं। यह स्थिति है बिहार की।

यह वही बिहार है जहां कुछ दिन पहले देश के गृहमंत्री डिजिटल रैली करके गए थे और उन्होंने काफी चुनाव की बात की थी लेकिन बाद में उन्होंने कहा था कि एक रैली का चुनाव से कोई लेना देना नहीं है। पिछले कामों की उपलब्धियां भी गिनाई लेकिन अगर थोड़ा सा ध्यान स्वास्थ्य सुविधाओं पर दे लिया होता तो आज यह तस्वीर इंटरनेट पर ना आ पाती बल्कि इस मासूम को इलाज मिल गया होता और उसकी जिंदगी बच गई होती। यह तस्वीर केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री के संसदीय क्षेत्र के हॉस्पिटल की यह तस्वीर है।