बिहार : ऑक्सीजन का पैसा नहीं देने पर , पिता के हाथ से निकाल ली सोने की अंगूठी , पप्पू यादव के गले लग कर रोने लगे बीजेपी मंडल अध्यक्ष

बिहार जहां कोरोनावायरस लगातार तेजी से बढ़ रहा है यहां के पूर्व सांसद पप्पू यादव ने यह तक कहा था कि जब बिहार में कोरोनावायरस संक्रमण फैला हुआ है तो ऐसे में चुनाव ना कराए जाएं पहले कोरोनावायरस को रोका जाए और उसके बाद चुनाव की बात की जाए लेकिन हुआ क्या लॉकडाउन खोलने के बाद सबसे पहले अमित शाह बिहार में रैली करने पहुंच गए डिजिटल रेली का प्रारंभ बिहार से ही हुआ था।

बिहार से खबर आ रही है जहां ऑक्सीजन के लिए सुप्रिटेंडेंट ने पैसा मांगा। और जब इस परिवार ने पैसा नहीं दिया तो पता है इसके परिवार के साथ क्या किया गया। मृत पिता के हाथ से सोने की अंगूठी निकाल ली गई। और और उसी परिवार में एक व्यक्ति बीजेपी का मंडल अध्यक्ष भी है। जब बिहार में पूर्व सांसद पप्पू यादव को इसके बारे में पता चला तो तुरंत वह पीड़ित के घर पहुंच गए।

पप्पू यादव ने जब उनकी सुनी तो वह भी उनके साथ रोने लगे पप्पू यादव ने वह वीडियो अपने फेसबुक पेज पर भी शेयर किया है उनके फेसबुक पेज उनकी पार्टी के नाम से है जन अधिकार पार्टी। सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल भी हो रहा है। लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि बिहार में अस्पतालों की हालत बद से बदतर है और ऐसे में मरीजों से ऑक्सीजन के पैसे लिए जा रहे हैं और पैसे नहीं दे रहे हैं तो क्या हो रहा है इस खबर में आपको पता ही चल गया होगा।

अब देखिए भारतीय जनता पार्टी के राजनेता डॉ संजय जायसवाल बीजेपी अध्यक्ष कन्हैया गुप्ता को लेकर ट्वीट करते हैं। लेकिन उनके साथ क्या हुआ। उन्हें कोई सरकार से मदद नहीं मिली जिस तरीके से मरीज का इलाज होता है उस तरीके से उनका इलाज नहीं हुआ। और उनसे ऑक्सीजन के लिए पैसा मांगा गया और बाद में बस भारतीय जनता पार्टी के राजनेता संजय जायसवाल ने यह ट्वीट किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी आपने इस तरीके से जनता को आत्मनिर्भर बनाया। जब लॉकडाउन को खोला गया था तब सबसे पहले गृह मंत्री अमित शाह बिहार में रैली करने पहुंच गए थे क्या इस रैली को रोका नहीं जा सकता था चुनाव बाद में नहीं हो सकते थे यह सवाल तो कोई करने वाला है नहीं। कि बिहार में मरीजों के साथ क्या हो रहा है। पप्पू यादव लगातार गरीबों की मदद कर रहे हैं और वह सोशल मीडिया पर फोटो और वीडियो शेयर करते रहते हैं।

पप्पू यादव ने यह तक मांग की थी कि बिहार में चुनाव आगे बढ़ाया जाए तो कि बिहार में कोरोनावायरस संक्रमण बढ़ रहा है इस पर कोई ध्यान नहीं दे रहा है हालांकि बिहार में बीजेपी के मुख्यालय में 75 कोरोनावायरस पॉजिटिव केस आए थे। इसी के चलते हुए पप्पू यादव ने यह कहा था कि इस इलेक्शन को रोका जाए अभी पहले कोरोनावायरस को मिलकर खत्म किया जाए चुनाव बाद में हो जाएगा।

सोचो बिहार में बीजेपी मंडल अध्यक्ष के साथ यह हो रहा है कि उनसे इलाज के लिए ऑक्सीजन के पैसे मांगे जा रहे हैं । तो सोचिए आम इंसान या आम मरीज के साथ क्या बर्ताव होता होगा कैसे इलाज होता होगा। सरकार को इतना आत्मनिर्भर बनाना ठीक नहीं है। बिहार में तो बीजेपी से गठबंधन की सरकार है लेकिन फिर भी विहार में मंडल अध्यक्ष कन्हैया गुप्ता से ऑक्सीजन का पैसा मांगा जा रहा है। जरा सोचिए आम नागरिक के साथ कैसा बर्ताव होता होगा।