कानपुर : बीजेपी जिला मंत्री निकला अप हरणकर्ता , बीजेपी जिला मंत्री सत्यम चौहान को कानपुर पुलिस ने 36 घंटे के अंदर , पढ़े

यूपी में मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं लेकिन जब यूपी में सरकार बनी थी तब इस सरकार को लेकर राजनेताओं ने कहा था कि उत्तर प्रदेश में राम राज्य आ गया है लेकिन क्या ऐसा राम राज्य हैं जिसमें अपराधियों को पनाह दी जा रही है उनको भरपूर सत्ता का संरक्षण मिल रहा है आपके सामने कानपुर की ही घटना घट चुकी है आपने देखा ही होगा कि विकास दुबे को किस प्रकार से सत्ता का संरक्षण मिल रहा था।

अब जो बीजेपी जिला मंत्री की घटना है और सोशल मीडिया पर काफी वायरल है लोग सरकार से और मीडिया से सवाल पूछ रहे हैं लेकिन मीडिया इस मुद्दे से बिल्कुल गायब है घटना कल की ही है लेकिन मीडिया इस पर सवाल पूछने वाला नहीं है बल्कि इस मुद्दे को बिल्कुल दबा दिया गया कोई प्राइम टाइम , कोई बड़ी खबर , बीजेपी जिला मंत्री सत्यम चौहान को लेकर सवाल मीडिया ने कुछ नहीं पूछा।

क्योंकि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है और मीडिया उस सरकार और उसके नेताओं के बारे में कुछ नहीं बोल सकता। मध्य प्रदेश से सुशील तिवारी जो कि ज्योतिषाचार्य हैं वह चमत्कारी बक्सा देखने की चाह रखी तब उन्होंने बीजेपी जिला मंत्री सत्यम चौहान से संपर्क किया कि वह चमत्कारी बक्सा देखना चाहते हैं। क्योंकि सुशील तिवारी ज्योतिषाचार्य हैं और इन चमत्कारी वस्तुओं को देखकर वह उसके बारे में जानकारी देते हैं।

बीजेपी जिला मंत्री से संपर्क होने के बाद उन्होंने कानपुर आने का मन बना लिया। कानपुर के बीजेपी जिला मंत्री सत्यम चौहान से उन्होंने संपर्क किया बातचीत होने के बाद भी वहां से रवाना हो गए और कानपुर देहात के अकबरपुर के नवीपुर आ गए। वहां वे एक निजी होटल में रुके । रुकने के बाद उन्होंने अपना सामान रखा और फिर बीजेपी जिला मंत्री को इस बात की सूचना दी कि वह अकबरपुर के नवीपुर पहुंच गए है।

जैसे ही सुशील तिवारी बीजेपी जिला मंत्री सत्यम चौहान को पहुंचने की जानकारी देते हैं उसके कुछ देर बाद ही बीजेपी जिला मंत्री अपने साथियों के साथ सुशील तिवारी ज्योतिषाचार्य का अप हरण कर हो जाता है। उसके बाद सुशील तिवारी की पत्नी उन्हें फोन करने की कोशिश करती हैं लेकिन सुशील तिवारी ज्योतिषाचार्य का फोन स्विच ऑफ आता है। लेकिन जब बार-बार फोन स्विच ऑफ आया तब सुशील तिवारी ज्योतिषाचार्य की पत्नी को चिंता होने लगती है ।

फिर कुछ देर बाद सुशील तिवारी की पत्नी के फोन पर एक कॉल आता है और जिस पर बीजेपी जिला मंत्री और उसके साथी करोड़ों रुपए मांगते हैं। फोन कॉल के बाद सुशील तिवारी ज्योतिषाचार्य की पत्नी को माजरा समझते देर नहीं लगती और वे तुरंत मध्य प्रदेश की पुलिस को पूरी जानकारी के बारे में बताती हैं इसके बाद मध्य प्रदेश पुलिस कानपुर पुलिस को सूचित करती है। और कानपुर पुलिस ने मात्र 36 घंटे में बीजेपी जिला मंत्री और उसके साथियों को गिरफ्तार किया।

लेकिन आज यह खबर मीडिया से पूरी तरह गायब है वह आप समझ गए होंगे कि क्यों गायब है अगर यही काम किसी विपक्ष के नेता ने किया होता तो अब तक उसी व्यक्ति को ना जाने क्या-क्या इस मुख्यधारा की मीडिया ने बता कर दिया होता। सोशल मीडिया पर विपक्ष के लोगों ने इस मामले पर टिप्पणी की। और कहा अर्थव्यवस्था और महंगाई को देखकर बीजेपी जिला मंत्री यह काम करने लगे। और इस केस का खुलासा कानपुर पुलिस ने मात्र 36 घंटे के अंदर कर दिया। लेकिन इस पर गोदी मीडिया बिल्कुल खामोश है