यूपी : कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद घंटो तक कोई लेने नहीं आया , फिर बन गया ऐसे आत्मनिर्भर , पढ़े

अब तो उत्तर प्रदेश में अजीबोगरीब घटनाएं सामने आ रही हैं उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में बरेली बदायूं रोड पर सुभाष नगर में यूनियन बैंक के सामने एक डॉक्टर को कोरोनावायरस संक्रमण हो जाता है उसके बाद उसके यहां तीन लड़के काम करते थे। जब डॉक्टर की कोरोनावायरस की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी तब उसमें से एक लड़का डॉक्टर के संपर्क में आ गया था और बाद में जब उसने जांच कराई।

तो उसकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई उसने और उसके परिवार ने भी यही सोचा था कि जब सभी लोगों को एंबुलेंस लेने आती है तो उसे भी आने वाली ही होगी घंटों इंतजार करा फोन भी किया उस लड़के ने खुद किया कि मेरी रिपोर्ट कोरोनावायरस पॉजिटिव आई है लेकिन कोई डॉक्टर एंबुलेंस से लेने नहीं गया यह है यूपी की स्वास्थ्य विभाग की स्थिति। कि कोरोना वायरस मरीज होने के बाद भी उसे कोई लेने नहीं गया।

घंटों उसने हेल्पलाइन नंबर भी खटखटाया बरेली में जो भी हेल्प लाइन नंबर थे कोरोनावायरस से संबंधित उन सभी पर कॉल किया लेकिन कोई उसे लेने नहीं आया जब काफी देर हो गई और उसके परिवार वालों को चिंता सताने लगी कि एक कोरोनावायरस संक्रमित मरीज अगर घर में रहेगा तो और भी कई लोग इसे पॉजिटिव हो सकते हैं और फिर उसने अपने जरूरत के सामान का बैग पैक करके सड़क पर चला गया।

सड़क पर जाकर खड़ा हो गया और किसी सवारी का इंतजार करने लगा इतने में एक ऑटो रिक्शा आया उसको हाथ दिया । और फिर वह कोरोनावायरस संक्रमित मरीज ऑटो रिक्शा में बैठकर जाने लगा अब सोचिए जब वो ऑटो रिक्शा में बैठकर कोरोनावायरस संक्रमित मरीज आ रहा होगा तो उसके साथ में और लोग भी बैठे होंगे न जाने कितने लोगों के संपर्क में आया होगा।

ऐसी स्वास्थ्य सुविधाएं हैं उत्तर प्रदेश की जहां कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों को कोई घंटों तक लेने नहीं आता और मीडिया तबलीगी जमात को खोजती रही। इसी बरेली शहर से एक कोविड अस्पताल में झरना बहने लगा था छत से पानी गिर रहा था सोशल मीडिया पर बहुत वीडियो वायरल हुआ था अखिलेश यादव ने भी उस वीडियो को लेकर मौजूदा सरकार पर तंज कसा था।