बहुत दुख आएंगे तेरी जिंदगी में , आगे-आगे देखता जा , बस कभी घबराना नहीं , 30 रुपये रिश्वत न देने पर , पढ़े पूरी खबर

हमारे देश में हर रोज दिल को झकझोर कर रख देने वाली तस्वीर सामने आ जाती है हम लाख उस तस्वीर को हटाने की कोशिश करते हैं लेकिन हमारे दिमाग से वह तस्वीर नहीं हट पाती है एक मासूम बच्चा जिसकी उम्र पढ़ने-लिखने की है वह देश का भविष्य है। लेकिन आज महिला मात्र 30 रुपये रिश्वत नहीं दे पाई। तो उसे स्ट्रेचर खींचना पड़ा आगे-आगे एक महिला खींच रही है और पीछे एक मासूम उस स्ट्रेचर को धक्का दे रहा है ।

यह उस राज्य की तस्वीर है जहां रामराज्य बताया जाता है। लेकिन इस प्रदेश की स्वास्थ्य सुविधाएं बिल्कुल चरमराई हुई है पहले बरेली के अस्पताल से अचानक कोविड के अस्पताल में झरना बहने लगता है न जाने कहां से कोविड के अस्पताल में पानी गिरने लगता है। लेकिन शायद ही है सरकार इन बातों को सुने और स्वास्थ्य व्यवस्थाएं ठीक करें। लेकिन स्वास्थ्य व्यवस्था को भी कौन देखें यहां सब को सरकार बनाने की पड़ी है।

यह जो मासूम बच्चा स्ट्रेचर को धक्का दे रहा है यह उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले की तस्वीर है। और देवरिया जिले में रिश्वत के 30 रुपए नहीं देने पर उस महिला को स्ट्रेचर खुद खींचना पड़ा उस बच्चे को स्ट्रेचर पर धक्का देना पड़ा। झंझोर कर रख देती हैं ऐसी तस्वीरें। जहां एक मासूम बच्चा अपने नाना को स्ट्रेचर पर लिटा कर धक्का दे रहा है। वह लाचार महिला अपने पिता को स्ट्रेचर से आगे की ओर खींच रही है।

क्या यह सवाल उत्तर प्रदेश सरकार से नहीं पूछना चाहिए क्या यह तस्वीरें मुख्यधारा के मीडिया चैनल तक नहीं पहुंची । क्या इन तस्वीरों को लेकर योगी सरकार से स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को लेकर सवाल नहीं पूछना चाहिए। जिस तरीके से मासूम अपने नाना को स्ट्रेचर पर लिटा कर धक्का देने पर मजबूर है सिर्फ इसलिए कि वह महिला रिश्वत के मात्र 30 रुपये नहीं दे पाई। हमें पता है इन तस्वीरों को लेकर कोई सवाल पूछने वाला नहीं है। बस जैसे जिंदगी चल रही है ऐसे ही आगे चलती रहेगी । सावधान रहिए कोरोनावायरस से । और देखिए यह वीडियो