पिछले 24 घंटे में आए 40 हज़ार से ज्यादा कोरोनावायरस संक्रमित के मामले , 11 लाख पहुंची कुल संक्रमित मामलों की संख्या

भारत में कोरोनावायरस अब तेजी से फैल रहा है हर रोज प्रतिदिन आने वाले आंकड़े लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं और प्रतिदिन आने वाले आकंड़ों पर अभी तक कोई रोकथाम नहीं दिख रही है। बिहार और उत्तर प्रदेश में जहां कम मामले आ रहे थे वहां अब दिल्ली से ज्यादा मामले आने लगे हैं हालांकि दिल्ली में कोरोनावायरस के प्रति आने वाले मामलों को कंट्रोल किया गया है।

और गुजरात में मामले अभी भी हजार से नीचे ही आ रहे हैं गुजरात में सरकार ने लगता है स्वास्थ्य व्यवस्थाओं पर ज्यादा ध्यान दिया है जो कि मामले अभी तक प्रतिदिन आने वाले आंकड़े 1000 तक नहीं पहुंचे है । यह है कि गुजरात मॉडल अगर उत्तर प्रदेश में और बिहार में लागू किया जाए तो क्या कोरोनावायरस से केसों कंट्रोल किया जा सकता है

गुजरात पर टेस्टिंग को लेकर पहले से सवाल उठ रहे थे। गुजरात में कोरोनावायरस की टेस्ट बहुत कम हो रही है इससे मरीजों का पता नहीं लग पा रहा है। अब मान लो कोरोनावायरस संक्रमित मरीज अगर उसके पास नहीं है और वह इधर उधर मिलता रहा तो ना जाने किस-किस लोगों को वह संक्रमित करेेगा। क्योंकि इतनी ज्यादा टेस्टिंग होगी उसने ही कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों का पता लगाया जा सकता है

पिछले 24 घंटे में सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र के आए हैं वहां 9000 से ज्यादा मामले सामने आए हैं जो बेहद चिंताजनक बात है। क्योंकि महाराष्ट्र एक ऐसा प्रदेश है जहां कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों में पहले नंबर पर है। और यह मामले महाराष्ट्र में लगातार बढ़ते जा रहे हैं महाराष्ट्र में जो प्रतिदिन कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या आ रही है वह भी लगातार बढ़ती ही जा रही है।

पूरे भारत में जो प्रतिदिन केस आ रहे हैं वह भी अब तेजी पकड़ते हुए नजर आ रहे हैं हर रोज कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर आ रही है अगर यह संख्या ऐसे ही लगातार बढ़ती गई और उस पर काबू नहीं किया गया तो भारत अमेरिका और ब्राजील से कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों के प्रतिदिन आने वाली संख्या में आगे निकल जाएगा। क्योंकि विश्व में कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या में भारत तीसरे नंबर पर है।

ब्राजील में अगर देखा जाए तो वहां भी कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों के प्रतिदिन आने वाले आंकड़ों को काबू किया गया है। और ब्राजील विश्व में कोरोनावायरस संक्रमित मरीज के मामले में दूसरे नंबर पर है पहले नंबर पर अमेरिका और तीसरे नंबर पर भारत है । और यह सबसे बड़ी चिंताजनक बात है कि जो प्रतिदिन कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों के आंकड़े आ रहे हैं वह लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं।

भारत में कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या इसी तरीके से अगर बढ़ती ही गई और इस पर काबू समय पर नहीं किया गया तो भारत की स्थिति क्या हो सकती है यह आप जानते ही होंगे। जब इटली में कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ी थी तब मुख्यधारा के मीडिया उस पर बढ़-चढ़कर कवरेज कर रही थी आज जब अपने देश की स्वास्थ्य व्यवस्थाएं खराब है तब मीडिया बिल्कुल चुप है।