भारत में कोरोनावायरस मामले पहुंचे 10 लाख के पार , प्रतिदिन आने वाले संक्रमित मामलों पर कोई कंट्रोल नहीं , पढ़े पूरी खबर

भारत में कोरोनावायरस लगातार बढ़ रहा है और आज कोरोनावायरस के मामलों ने 10 लाख का आंकड़ा भी पार कर लिया है हर रोज कोरोनावायरस के संक्रमित मामले 32 हजार से ज्यादा आ रहे हैं हर रोज यह मामले लगातार बढ़ रहे हैं और इन बढ़ते मामलों पर को भी कंट्रोल होता नहीं दिख रहा है। उत्तर प्रदेश में जहां कोरोनावायरस के मामले बहुत कम आ रहे थे अब वहां भी कोरोनावायरस के मामलों ने रफ्तार पकड़ ली।

वहां भी कोरोनावायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और इन पर कोई काबू नहीं है। साइंटिस्टों ने दावा किया है कि फरवरी 2020 तक भारत में 287000 कोरोनावायरस के मामले प्रतिदिन आएंगे अगर यही स्थिति रही तो ये आंकड़े कहाँ तक जा सकते है क्योंकि कोरोनावायरस के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। पहले 10000 , 20000 और उसके बाद अब 30,000 के पार कोरोनावायरस के मामले बढ़ते चले जा रहे हैं।

और अगर बात की जाए भारत में कोरोनावायरस की जांच कितनी हो रही है तो भारत में कोरोनावायरस की जांच सबसे कम हो रही है गुजरात में सबसे कम जांच हो रही है और गुजरात जांच के मामले में 11वें नंबर पर है लेकिन कोरोनावायरस के मामले में पांचवे नंबर पर है लेकिन फिर भी कोई सवाल पूछने वाला नहीं है कि आखिरकार गुजरात में इतनी जांच कम क्यों हो रही।

उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है लेकिन यहां उत्तर प्रदेश की आबादी लगभग 23 करोड़ है। लेकिन अगर जांच के आंकड़ों पर नजर डाली जाए कोई जांच उत्तर प्रदेश में काफी कम हुई है यह कम जांच करने का और आंकड़े छुपाने का ही नतीजा है क्योंकि हम पहले ही कह चुके हैं कि कोरोनावायरस टेस्टिंग कम करने से केवल आंकड़े छुपाये जा सकते हैं कोरोना वायरस संक्रमित मरीज नहीं।

लेकिन भारत में हो क्या रहा है भारत में सभी लोग अपने अपने चुनाव की तैयारी में लगे हुए हैं कोरोनावायरस तो यह मान लिया है कि तो सारी दुनिया में भारत में कोई अकेले थोड़ी नहीं है। आज कोरोनावायरस के मामले 32000 से भी प्रतिदिन आ रहे है ।और ना जाने यह प्रतिदिन आने वाले आंकड़े कहां जा सकते है ।