15 अगस्त को आने वाली कोरोनावायरस की वैक्सीन अब 2021 तक टली , 7 लाख के करीब कोरोनावायरस के मरीज होने के बाद भारत तीसरे नंबर पर पहुंचा

जिस कोरोनावायरस की वैक्सीन की 15 अगस्त को आने की संभावना जताई जा रही थी और जिन लोगों को विश्वास दिलाया गया कि कोरोनावायरस की वैक्सीन 15 अगस्त को आ जाएगी लेकिन अब 15 अगस्त को आने वाली कोरोनावायरस इन 2021 तक टल गई है। आईसीएमआर ने कोरोनावायरस की वैक्सीन 15 अगस्त की आने की संभावना जताई थी। लेकिन यह संभावना ऐसे वक्त में जताई थी।

जब बाबा रामदेव की कोरोनावायरस की दवाई पर आरोप लग रहे थे उसके विज्ञापनों को उसकी दवाइयों को कई राज्य की सरकारों ने बैन लगा दिया था। तभी यह बयान सामने आया कि 15 अगस्त को कोरोनावायरस की वैक्सीन आ जाएगी और जो संक्रमित मरीज हैं वह ठीक होकर जल्द से जल्द अपने घर पहुंच जाएंगे। मंत्रालय ने भी कोरोनावायरस की वैक्सीन को लेकर जो प्रेस कॉन्फ्रेंस में बयान दिया था उसको भी अब हटा दिया गया है

कोरोनावायरस की दवाई बाबा रामदेव भी लेकर आए न्यूज़ चैनल भी दावा करने लगे कि अब भारत विश्व गुरु बन जाएगा लेकिन विश्व गुरु की चर्चा पहले भी हुई थी जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोनावायरस को खत्म करने के लिए भारत की जनता से 21 दिन का समय मांगा था लेकिन उस समय पूरे 21 दिन मीडिया ने दिल्ली में तबलीगी जमात पर आरोप लगाते लगाते निकाल दिया बाकी जो समय बचा उसमें जनता ने जमकर थाली और ताली बजाई। बाकी जो बचा कुचा समय था वह मोमबत्ती जलाने में और ढोलक पीटने में निकल गया।

लगभग 7 लाख कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या भारत में पहुंच गई है और भारत दुनिया में तीसरे स्थान पर पहुंच चुका है। कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों हमें कोई भी रोकथाम नहीं दिख रही है लगातार मामले बढ़ते हुए नजर आ रहे हैं। लॉकडाउन लगाने के बाद भी सरकार कोरोनावायरस को रोकने में नाकाम रही। अब कोरोनावायरस संक्रमित के मामले प्रतिदिन पच्चीस हजार के करीब आ रहे हैं यानी 4 दिन में एक लाख कोरोनावायरस संक्रमित के मरीज आएंगे । पर यह मामले लगातार बढ़ रहे हैं।

जब दुनिया में कोरोनावायरस फैला हुआ था तो देश में कुछ लोग गोमूत्र से इलाज ढूंढ रहे थे उस वक्त लोगों ने गौमूत्र पार्टियां भी रखी थी लोग वहां गोमूत्र को पी रहे थे और मीडिया उस पर कवरेज कर रहा था और उसके फायदे बता रहा था। जब 21 दिन का मोदी सरकार ने लॉकडाउन लगाया तब मीडिया विश्व गुरु बनने की बात कह रहा था। आज दुनिया भर में भारत कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या में तीसरे स्थान पर पहुंच गया है।

लेकिन जो वैक्सीन 15 अगस्त को आने का दावा किया जा रहा था वह अब 2021 तक टल गई है यानी 6 महीने तक भारत में कोरोनावायरस की रोकथाम के लिए कोई वैक्सीन नहीं आ सकती। और आपको एक बार फिर बता दें कि यह कोरोनावायरस वैक्सीन आने की घोषणा तब की गई थी जब बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि पर कोरोनावायरस की दवाई को लेकर आरोप लग रहे थे