डॉलर और डीजल दोनों प्रधानमंत्री की उम्र से ज्यादा निकल गए , क्या प्रधानमंत्री की गरिमा अंबुजा सीमेंट से बनी है – इमरान प्रतापगढ़ी

भारत में पहली बार ऐसा हुआ है कि डीजल पेट्रोल से आगे निकल गया हो लेकिन दूसरी बात यह है कि डीजल और डॉलर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उम्र से ज्यादा निकल गया है। देश में डीजल और पेट्रोल की कीमतें बढ़ने के साथ-साथ महंगाई भी बढ़ रही है और यह महंगाई ऐसे दौर में बढ़ रही है जब पूरा देश कोरोनावायरस संकट से जूझ रहा है।

जब देश में महंगाई बढ़ती है तो विपक्ष की पार्टियों को पूरा अधिकार होता है कि बढ़ती महंगाई के खिलाफ आवाज को उठाया जा सकता है । लेकिन जब डीजल और पेट्रोल की बढ़ती कीमतों पर विपक्ष विरोध प्रदर्शन कर रहा है तब मीडिया इससे हंगामा बता रहा है। क्योंकि आज जो मोदी सरकार सत्ता में है 2014 से पहले जब यह विपक्ष में थे तब इन्होंने भी बढ़ती महंगाई के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था और देश की जनता ने उनका साथ दिया था।

आज जब महंगाई लगातार बढ़ रही है तो क्या विपक्ष बढ़ती महंगाई पर सवाल नहीं उठा सकता । जब देश में कोरोनावायरस संकट नहीं था । तो विपक्ष अर्थव्यवस्था को लेकर सवाल खड़े किया कर रहा था लेकिन मुख्यधारा की मीडिया जिसे गोदी मीडिया के नाम से जाना जाता है उसने कभी अर्थव्यवस्था को लेकर चर्चा नहीं की।

भारत की अर्थव्यवस्था लगातार गिरती रही और भारत का मुख्यधारा का मीडिया पाकिस्तान की खबरें और पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को भारत देश की जनता को दिखाता रहा। आज कोरोनावायरस के संकट से देश गुजर रहा है । और अर्थव्यवस्था बिल्कुल चरमराई हुई है। लेकिन मुख्यधारा के मीडिया चैनलों ने अर्थव्यवस्था को लेकर ना पहले चर्चा की और ना ही अब चर्चा हो रही है।

रुपया की कीमत भी गिर रही है। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विपक्ष में थे तब डॉलर को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़े-बड़े बयान दिए थे और आज जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बन गए हैं तो आज वह अपने बयानों को भूल गए हैं। डीजल और पेट्रोल की कीमतों को लेकर भी प्रधानमंत्री ने बड़े-बड़े वादे किए थे ।

कांग्रेसी नेता इमरान प्रतापगढ़ी ने लाइव न्यूज़ चैनल में कहा कि डॉलर और डीजल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उम्र से आगे निकल गए है । देखिए इमरान प्रतापगढ़ी का यह ट्वीट जिसमें वह डीजल और पेट्रोल की बढ़ती कीमतों पर सवाल उठा रहे हैं।