बाबा रामदेव ने कर दी कोरोनावायरस की दवाई लॉन्च , क्या अब भारत कोरोनावायरस मुक्त हो जाएगा , पढ़ें पूरी खबर

कोरोनावायरस से पूरी दुनिया के लोग परेशान हैं लेकिन जहां दुनिया के सारे देश कोरोनावायरस की वैक्सीन ढूंढने में लगे हैं वहीं भारत की एक आयुर्वेदिक कंपनी पतंजलि जिसके मालिक बाबा रामदेव हैं उन्होंने कोरोनावायरस की दवाई पेश कर दी है। बाबा रामदेव ने मीडिया से प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया कि इस दवाई से 100 फ़ीसदी लोगों को फायदा हुआ है।

बाबा रामदेव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि जिन मरीजों पर यह दवा इस्तेमाल की गई उन मरीजों को सही किया गया और जांच करने के बाद उनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई यह दावा पतंजलि के मालिक बाबा रामदेव कर रहे हैं। जिन मरीजों पर यह दवा प्रयोग की गई है उन मरीजों का कोई प्रमाण नहीं है। किस किस मरीज के लिए यह दवा इस्तेमाल हुई और वह इस दवाई से ठीक हो गया इसका कोई प्रमाण नहीं है

भारत में करीब चार लाख 50 हजार लोग कोरोनावायरस से संक्रमित हैं और यह संख्या लगातार बढ़ रही है हर रोज 12000 से लेकर 15000 तक कोरोनावायरस के संक्रमित के मरीज बढ़ रहे हैं। अगर वाकई यह दवाई कोरोनावायरस जैसे संक्रमण को खत्म करने में कामयाब हुई है और यह दावा किया जा रह अगर वाकई यह दवाई कोरोनावायरस जैसे संक्रमण को खत्म करने में कामयाब हुई है और यह दावा बाबा रामदेव कर रहे हैं। तब तो यह दवाई देश के सारे हॉस्पिटल में सरकार द्वारा पहुंचना चाहिए।

बाबा रामदेव ने कोरोना की दवाई जरूर लांच कर दी लेकिन इसकी हलचल नहीं दिख रही। अब हो सकता है कि आप गोदी मीडिया के चैनलों पर जल्द ही इस दवाई का विज्ञापन भी देखने लगे। गाय और गोमूत्र और गोबर इन तीनों चीजों का श्रेय अगर किसी ने किया है तो वह है हमारे देश की एक राजनीतिक पार्टी और दूसरी आयुर्वेदिक कंपनी।

पहले भी जब देश में कोरोनावायरस फैल रहा था तब कुछ विशेषज्ञ गोमूत्र पीने की सलाह दे रहे थे उन्होंने कोरोनावायरस से बचने के लिए गौमूत्र पार्टी भी रखी लेकिन उस पार्टी का कोई असर आज तक नहीं दिखा आपको बता दें कोरोनावायरस की अभी कोई दवाई नहीं बनी है।