क्या केंद्रीय मंत्री को भारत के अस्पतालों से ज्यादा पाकिस्तान के अस्पतालों की जानकारी है , पढ़े लेख

पाकिस्तान के क्रिकेट खिलाड़ी शाहिद अफरीदी की जांच के बाद कोरोनावायरस पॉजिटिव रिपोर्ट आती है और वह इस बात की जानकारी अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर करते हैं और जल्दी स्वस्थ होने की लोगों से दुआओं की अपील करते हैं। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान शाहिद अफरीदी के ट्वीट करने के बाद ट्विटर पर बहुत से लोग उन्हें रिप्लाई करते हैं । देखिए शाहिद अफरीदी कोविड-19 से संक्रमित होने के बाद यह ट्वीट करते हैं

अफरीदी के ट्वीट करने के बाद केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी रिप्लाई करते हैं कि अगर कोरोनावायरस से बचना है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सहारा लें। और इससे पहले केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी ने लिखा कि उन्हें पाकिस्तान के हर अस्पताल के बारे में पूरी जानकारी है। तो क्या केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी को भारत के अस्पतालों से ज्यादा पाकिस्तान के अस्पतालों की ज्यादा जानकारी है। या भारत के अस्पतालों की स्थिति ज्यादा बेहतर है जो कि केंद्रीय मंत्री पीएम मोदी का सहारा लेने की बात कर रहे हैं

मोदी जी के गुजरात मॉडल में जब सिविल अस्पतालों को गुजरात हाईकोर्ट ने काल कोठरी से भी बदतर बताया था । लेकिन इस पर मीडिया ने सरकार से किसी तरीके का अस्पतालों को लेकर कोई सवाल नहीं किया। उसके बाद क्या होता है । कि जो जज गुजरात के सिविल अस्पतालों को लेकर बयान देते हैं उन्हें अगली सुनवाई से पहले उन्हें उस बेंच से हटा दिया जाता है।

नवभारत टाइम्स की खबर के अनुसार उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के सरकारी अस्पताल में सभी 8 वेंटीलेटर बंद मिले। भारत में कोरोनावायरस के मामले 3 लाख 20 हजार से पार हो चुके हैं और यह मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। और प्रतिदिन 12 हजार के करीब मामले बढ़ रहे हैं। अभी तक 9000 से ज्यादा लोगों की मृत्यु हो चुकी है।

जिस गुजरात मॉडल का नाम लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्यमंत्री से प्रधानमंत्री बने थे उसी गुजरात मॉडल के अस्पतालों की हालत बद से बदतर है लेकिन ऐसी स्थिति में केंद्रीय मंत्री मोदी जी का सहारा लेने की बात कर रहे हैं। क्या पीएम मोदी के गुजरात के अस्पतालों की हालत ज्यादा बेहतर है जो कि केंद्रीय मंत्री प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सहारा लेने की बात कर रहे हैं।

यह ट्वीट करने के बाद केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी को यूजर्स ने ट्रोल किया। उसके बाद केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी ने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया।