2014 में संबित पात्रा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेपाल को लेकर ट्वीट करते हुए अच्छे दिन की बात कही थी , देखें और जाने

आज भारत का 3 पड़ोसी देशों से तनाव चल रहा है। चीन की सेना भी हमारे भारत की जमीन में अंदर कब्जा कर चुकी है। लेकिन इस मुद्दे पर सरकार और सरकारी मीडिया कोई चर्चा करने को तैयार नहीं है। भारत इस समय कोरोनावायरस के संकट से जूझ रहा है और ऐसे में नेपाल जैसे छोटे देश से तनाव बढ़ रहा है । जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2014 में सत्ता में आए थे तब पीएम मोदी ने नेपाल को लेकर यह ट्वीट किया था

प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट के जरिए कहा था कि नेपाल एक पुराना और गहरा मूल्यवान मित्र देश है हम विभिन्न क्षेत्रों में नेपाल के साथ अपने कार्य संबंधों को और ज्यादा मजबूत करने में प्रतिबद्ध हैं। लेकिन आज नेपाल के साथ भारत के ऐसे संबंध है यह आप देख ही रहे होंगे। हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब वह चीन को भी लाल आंख दिखाने की बात करते थे। लेकिन आज चीन ने हमारी धरती पर कब्जा कर लिया है

और हमारे राजनेता और उसके साथ साथ उनके इशारों पर चलने वाला मुख्यधारा का मीडिया बिल्कुल खामोश है इस पर कोई चर्चा करने को तैयार नहीं है बल्कि मुख्यधारा की मीडिया के चैनलों में कुछ पत्रकार है वह यह भारतीय जनता को ज्ञान दे रहे हैं कि चीन की सेना अपने परिवार की इकलौती संतान होती है और वह लड़ने से पहले कई बार सोचेगी । यह जिम्मेदारी हमारा मुख्यधारा का मीडिया निभा रहा है।

चीन के साथ भारत का तनाव चल रहा है । और इसी बीच भारत का अब नेपाल से भी तनाव बढ़ गया है कल की घटना से भारत और नेपाल के बीच तनाव और बढ़ गया है लेकिन जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2014 में प्रधानमंत्री बने थे तब जनता को अच्छे दिन की बात कही गई थी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी रैलियों में भी अच्छे दिन का नाम लेकर प्रचार प्रसार किया था।

अब देखिए 2014 में संबित पात्रा ने नेपाल के रिश्तो को लेकर ट्वीट किया था उन्होंने कहा था कि इसमें कोई संदेह नहीं है नेपाल के रिश्तो को कांग्रेसमें अच्छी तरीके से हैंडल नहीं किया है मुझे यकीन है कि मोदी इसे पुनर्जीवित कर देंगे और अच्छे दिन आएंगे । क्या यही है अच्छे दिन