पहले हिंदी लिखना सीख लीजिए , ट्विटर पर लोगों ने इस पत्रकार को रवीश कुमार का प्राइम टाइम देखने की दी सलाह , पढ़े लेख

भारतीय सरकारी मीडिया में एक पत्रकार ने रवीश कुमार का प्राइम टाइम देख लिया प्राइम टाइम देखने के बाद पत्रकार साहब ट्वीट कर बैठे। लेकिन ट्वीट में हिंदी भी ढंग से नहीं लिख पाए और यह वह पत्रकार हैं जो अपनी पत्रकारिता करते हुए सूट पहनकर चांद पर पत्रकारिता करने पहुंच गए थे। लेकिन इन्होंने गलती से एनडीटीवी के पत्रकार मैग्सेसे अवार्ड से सम्मानित रवीश कुमार का प्राइम टाइम देख लिया ।

दरअसल अगर देखा जाए तो यह पत्रकार कॉपी पेस्ट पत्रकार हैं जो व्हाट्सएप ग्रुप में कॉपी पेस्ट ज्ञान आता रहता है यह उसी को जनता तक फैलाने का काम करते हैं हाल ही में अल्ट न्यूज के पत्रकार मोहम्मद जुबेर ने एक न्यूज़ को खोजा । अगर खबर को गौर से देखा जाए तो खबर के शब्द और इन पत्रकार के ट्वीट करे हुए शब्द एक ही हैं जिससे यह साबित होता है कि यह पत्रकार सिर्फ कॉपी पेस्ट पत्रकार हैं आप देखिए यह ट्वीट

इन पत्रकार के इस ट्वीट के करने के बाद कई बड़े वरिष्ठ पत्रकारों ने इस पर अपनी प्रतिक्रिया दें कि जो लोग ढंग से हिंदी नहीं लिख पाते हैं । वो रवीश कुमार बनना चाहते हैं। देखिए आरफा खानुम शेरवानी का यह ट्वीट

अब देखिए यह ट्वीट

इनके इस ट्वीट पर ट्विटर यूजर विपिन राठौर लिखते हैं कि मैं तुमको गलती से भी नहीं देखता हां तुम रवीश कुमार कभी नहीं बन सकते कभी नहीं आप भी देखिए विपिन राठौर का यह ट्वीट

दरअसल इन पत्रकारों की पत्रकारिता व्हाट्सएप के जरिए चलती है और यह कई बार साबित हो चुका है। जो ठीक से हिंदी नहीं लिख पाते ट्वीट में कई लोगों ने सलाह दी है । कि रोज रवीश कुमार का प्राइम टाइम देखा करें हो सकता है हिंदी लिखना सीख जाएं और पत्रकारिता भी करने भी करने लगे