उल्टा पड़ गया रिपब्लिक चैनल को ट्वीट करना , सोशल मीडिया पर हो रहा है ट्वीट वायरल , पढ़ें पूरी खबर

रिपब्लिक चैनल वो चैनल है। जिसका एक एंकर अपने घटिया समाचारों में मोदी नाम जपता रहता है और उसने आज तक सरकार की नाकामियों पर सत्ताधारी नेताओं से सवाल तक नहीं किया। इस चैनल का एक मुख्य पत्रकार लगातार विपक्ष से सवाल पूछता है। और इसकी झूठ और घटिया प्रोपेगेंडा की वजह से इस पत्रकार पर एफआईआर हो चुकी है। और इसी चैनल में गुणगान गाया जाता है कि मोदी की लोकप्रियता बढ़ रही है।

लेकिन रिपब्लिक को ट्वीट करना भारी पड़ गया जब रिपब्लिक ने अपने यूजर्स से एक सवाल किया। रिपब्लिक ने एक पोल जरनेट किया उस में पूछा गया। कि मोदी गवर्नमेंट को 1 साल हो गई है और कौन बेहतर है । इसमें दो ऑप्शन थे पहला मोदी सरकार और दूसरा विपक्ष। लेकिन 43 प्रतिशत लोगों ने मोदी सरकार को बेहतर बताया और 57% लोगों ने विपक्ष को बेहतर बताया।

लेकिन मोदी सरकार की प्रतिशतता से ज्यादा विपक्ष की प्रतिशतता आई। और इस पोल के अनुसार लोगों ने विपक्ष को बेहतर बताया। पर यह ऐसे चैनल है जिस पर मोदी का गुणगान सुबह शाम गाया जाता है। इन पत्रकारों का काम सिर्फ विपक्ष को घेरना है और सत्ता में बैठे नेताओं से सवाल तो बिल्कुल भी नहीं करना है। और यह पोल और किसी ने नहीं रिपब्लिक के यूजर्स ने दिया है।

आपको पता है कि जब यूजर्स के द्वारा विपक्ष की पसंद की प्रतिशतता मोदी सरकार से ज्यादा आई तब इस चैनल में इस बात पर बिल्कुल चुप्पी साध ली और जैसे सांप सूंघ गया हो। हां अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रतिशतता ज्यादा आती तो लगभग कम से कम 8 दिन गीत गाया जाता। देखिए कैसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता बढ़ रही है 1 साल के बाद भी प्रधानमंत्री को लोग ज्यादा चाहने लगे है ।

सप्ताह के 7 दिन में यह चैनल इस बात को लेकर अलग-अलग कार्यक्रम चलाता अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रतिशतता विपक्ष की प्रतिशतता से ज्यादा आती लेकिन जब पोल का रिजल्ट आया तो रिपब्लिक बिल्कुल चुप हो गया इस पर किसी ने चर्चा तक नहीं की। क्योंकि जनता की अब आंखें खुल चुकी हैं और अब ज्यादा जनता का ब्रेनवाश नहीं किया जा सकता। और रिपब्लिक की ही यूजर्स ने इनके ट्वीट की बखिया उधेड़ दी।

सोशल मीडिया पर इस तरीके के मीम्स हो रहे हैं वायरल