आजतक चैनल ने पुराने वीडियो को , वर्तमान का वीडियो बताकर छाप दी झूठी ख़बर , पढ़े पूरी खबर

जब से भारत देश में लॉक डाउन चल रहा है तब देश के प्रदेशों में लोग तरह-तरह के जुगाड़ करके अपने घरों को लौट रहे है और इन जुगाड़ बाजी के वीडियो भी सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहे है लेकिन इन वायरल वीडियो को बिना जानकारी के खबर बनाना कितना गलत साबित हो सकता है यह आप जानते होंगे झूले वाली खबर तो एक साधारण खबर है जिसे मुख्यधारा की मीडिया ने झूठा प्रोपेगेंडा करके वर्तमान की खबर से जोड़ दिया

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा था इसमें एक आदमी ने झूले को गाड़ी में जोड़कर रोड पर चला रहा था उस वीडियो में दावा किया जा रहा था यह व्यक्ति लॉक डाउन में कैसे जुगाड़ करके अपने घर लौट रहा है । उस व्यक्ति ने गाड़ी का अगला पहिया निकालकर झूले के दोनों पहियों में जोड़ रखा था । बाद में इस वीडियो को अलग अलग तरीके से सोशल मीडिया पर लोग वायरल करने लगे कोई बोला कि अवार्ड पाने का असली हकदार यही आदमी है जो इस संकट में जुगाड़ करके अपने परिवार के साथ लौट रहा है।

सोशल मीडिया पर भी इस वीडियो को लेकर तारीफ की गई लोगों ने जमकर इस वीडियो की प्रशंसा की
लेकिन भाई मुख्यधारा की मीडिया चैनल आज तक ने इस 2 साल पुराने वीडियो को वर्तमान के समय में जोड़कर पूरा आर्टिकल लिख डाला। और इसी गोदी मीडिया ने सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो पर कई खबरें चला चुका है जिसका बाद में खुलासा हुआ था। इस मीडिया चैनल ने ज़मतियों को लेकर कई फर्जी खपरी चलाई थी लेकिन बाद में सब गलत साबित हुई।

जब इस वीडियो के बारे में जांच-पड़ताल की गई और सोशल मीडिया पर इस वीडियो के बारे में जानकारी जुटाने लगे ।तो क्या वाकई यह आदमी लॉक डाउन के समय में अपने परिवार को लेकर झूले में गाड़ी का जुगाड़ करके अपने घर लौट रहा है। खोजबीन करने के बाद पता चला कि वीडियो 2018 का है।

और वह व्यक्ति झूला झुलाने का काम करता था। और उसने घर लौटने के लिए झूले में मोटरसाइकिल जुगाड़ करके बना रखी थी। लेकिन फिर भी इन गोदी मीडिया उन्हें सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो को बिना जानकारी लिए बिना उसके बारे में पढ़ें पूरा आर्टिकल लिख डाला लोगों को इस मीडिया ने गुमराह किया।