हॉस्पिटल के कंपाउंडर बोले , हिंदू मरीज होंगे , तभी इलाज करेंगे , वीडियो वायरल

सोशल मीडिया पर एक हॉस्पिटल का वीडियो वायरल हो रहा है। मगर हम इस बात की पुष्टि नहीं करते कि यह वीडियो कब का है लेकिन वीडियो में यह जरूर पता लग रहा है कि वीडियो लॉक डाउन के समय का है। कभी सभी लोगों ने इस वीडियो में मास्क लगाए हुए हैं। जब व्यक्ति किसी मरीज को इस हॉस्पिटल में लेकर आता है तब हॉस्पिटल का कंपाउंडर उस मरीज से पूछता है कि आप हिंदू हो कि मुसलमान। उसके बाद मरीज कंपाउंडर से पूछता है कि भाई ऐसा क्या है कि आप धर्म पूछ रहे हो। उसके बाद कंपाउंडर कहता है कि ऊपर से आर्डर हैं अगर हिंदू हो तो इलाज हो करेंगे और अगर कोई मुसलमान हो तो उसे बाहर से ही मना कर दो

इस बात को लेकर उस व्यक्ति में और कंपाउंडर के बीच झड़प होने लगी। बाद में कंपाउंडर अस्पताल के अंदर चला जाता है और फिर वह व्यक्ति अस्पताल के अंदर जाता है और यह वीडियो सूट करता है जो सोशल मीडिया पर आज वायरल हो रही है

वीडियो रिकॉर्ड करते समय व्यक्ति ने कंपाउंडर से पूछा कि कितने आपको आर्डर दिया है तब महिला डॉक्टर ने जवाब दिया था यह लड़का नया है इसे मालूम नहीं था । सोशल मीडिया पर यह वीडियो उत्तर प्रदेश के मथुरा का बताया जा रहा है लेकिन हम इस बात की पुष्टि नहीं करते कि यह वीडियो किस जगह का है।

जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को कोरोना वायरस से लड़ने के लिए एकजुट कर रहे हैं एकजुटता का संदेश दे रहे हैं कि कोरोनावायरस किसी की जाति नहीं देखता किसी का धर्म नहीं देखता किसी के कपड़े नहीं देखता लेकिन फिर भी ऐसे मामले सामने आ रहे हैं। डॉक्टर भगवान का रूप होता है। लेकिन जब कोरोनावायरस संक्रमण इस देश में फैला हुआ है तब यह लोग मरीजों को धर्म से देख रहे हैं। आपको वोट ट्वीट दिखाना चाहेंगे जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत वासियों को एकजुटता का संदेश दिया था।

कई विदेशी लोग इस वीडियो को तर्क देकर शेयर कर रहे हैं कि देखिए भारत में कोरोनावायरस संक्रमण के वक्त भी हिंदू-मुस्लिम चल रहा है।