सिपाही रिपोर्टर से बोला , आप गलत जगह रिपोर्टिंग कर रहे हैं , फिर रविश कुमार ने दिया जबाव , देखें वीडियो

एनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने प्राइम टाइम के साथ अब एक कार्यक्रम और शुरू किया है। उस कार्यक्रम का नाम है देश की बात । इस कार्यक्रम में वह मुद्दे उठाए जाते हैं जो गरीब मजदूर पैदल अपने घरों को लौट रहे हैं भूख प्यास से परेशान हैं। इस कार्यक्रम में वो खबरें रिपोर्टिंग की जाते हैं जो भारत की गरीब जनता की परेशानियां है। इस कार्यक्रम में उन गरीब मजदूरों की आवाजों को उजागर किया जा रहा है जिन गरीब मजदूरों की आवाजें बड़े बड़े मीडिया हाउस तक नहीं पहुंच पा रही है।

पहले लोग बसों का इंतजार कर रहे थे सरकार बस और ट्रेन चलाने का आश्वासन दे रही थी इसके बाद कुछ मजदूर पढ़े-लिखे थे उन्होंने फॉर्म भी भरा लेकिन किसी ट्रेन या बस की सवारी का बुलावा नहीं आया अंत में इन गरीबों ने अपना सामान उठाया और रोड से ही पैदल चलना शुरू हो गए जब रोड पर पैदल घर को जाने लगे रोड पर पुलिस मिलने लगी और भूखे प्यासे मजदूरों को पीट कर भगा देने लगी। अब यह मजदूर किसके सहारे अपने घर जाएं इन्हें घर भी जाना है फिर जांच भी करानी है क्वॉरेंटाइन भी होना है।

जब सड़कों पर इन मजदूरों की पुलिस ने पिटाई शुरू कर दी तब इन्होंने रेल की पटरी द्वारा घर जाने का मन बना लिया सामान उठाकर ट्रैक का पता लगाकर सीधा रास्ता नाप लिया लेकिन घर पहुंचने के लिए इतना परेशान थे कि कल ट्रेन से हुई घटना को भी भूल गए। औरंगाबाद में जो घटना हुई थी बहुत ही दर्दनाक थी 15 मजदूर ट्रैक पर इसलिए सो गए थे क्योंकि उन्हें मालूम था कि लॉक डाउन में ट्रेन नहीं चल रही हैं और वह ट्रेन के ट्रैक पर लेट गए और अचानक उनके ऊपर से मालगाड़ी गुजर जाती है

रेलवे ट्रैक पर पड़ी रोटियां बहुत कुछ बयां करती हैं। लेकिन जब यह गरीब मजदूर पटरी के सहारे घर लौट रहे थे तभी अचानक आगे से कुछ पुलिसकर्मी ठंडा लेकर उन लोगों को थोड़ा देते हैं हजारों की भीड़ में मजदूर रेलवे ट्रैक पर पैदल चल कर अपने घर लौट रहे थे। जब पुलिस उन मजदूरों को लाठी-डंडों से दौड़ा रही थी उसी वक्त एनडीटीवी के पत्रकार रोहित शर्मा ने वही लाइव रिपोर्टिंग शुरू कर दी जिसके बाद एक पुलिसकर्मी को बुरा लगने लगा और कहने लगा कि यह रिपोर्टिंग करने की जगह नहीं है

एनडीटीवी के पत्रकार सहित मिश्रा और पुलिसकर्मी में कहासुनी होने लगी। जब पुलिसकर्मी पत्रकार से बहस करने लगा उस वक्त एनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने अपने कार्यक्रम में सरकार को और पुलिसकर्मी को खरी-खोटी सुनाई।

देखिए वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार का देश की बात का कार्यक्रम का एक हिस्सा