लॉक डाउन में गरीब मजदूर करे तो क्या करें , पढ़े ये स्टोरी

आज भारत कोरोना वायरस संकट के दौर से गुजर रहा है भारत में रोज 1000-2000 कोरोनावायरस के नए मामले लगातार बढ़ रहे हैं। जब कोरोनावायरस का भारत में पहला मामला सामने आया था तब एक व्यक्ति ने भारत सरकार को इस ख़तरनाक बीमारी से आगाह किया था। लेकिन कुछ लोगों ने उस व्यक्ति का सोशल मीडिया पर मजाक उड़ाया।

पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को यह संदेश देते हैं कि देश के कुछ हिस्सों में जनता कर्फ्यू लगाया जाता है और सभी नागरिक जनता कर्फ्यू का पालन करें और अपना और अपने परिवार की रक्षा करें। जब जनता कर्फ्यू की खबर बाहर रह रहे मजदूरों को लगती है तब उनको लगता है कि ये दो-चार दिन की बात है उसके बाद सब नॉर्मल हो जाएगा लेकिन इतना किसी मजदूर को पता नहीं था कि इतना लंबा लॉक डाउन हो जाएगा। इसके बाद संपूर्ण देश में लॉक डाउन लगाया जाता है। और जो गरीब मजदूर थे वह जहां के तहां फस जाते हैं।

जिन मजदूरों की एक दिन की कमाई 1000 से लेकर 2000 तक थी। उन्होंने तो लॉक डाउन का समय आसानी से काट लिया। लेकिन वह मजदूर जिनकी एक दिन की कमाई 300 से लेकर 500 रुपए तक की थी उन्हें लॉक डाउन के दिन काटना मुश्किल पड़ रहे थे यह मजदूर जिस मालिक के यहां काम कर रहे थे उन मालिकों ने भी अपने हाथ खड़े कर लिए थे।

जब इन बिहारी मजदूरों को दूसरे प्रदेश में समय काटने में दिक्कत हुई तब इन मजदूरों ने घर लौटने का फैसला कर लिया लेकिन लौटते तो लौटते कैसे ना ट्रेन ना बस । जब लोगों को पैदल घर जाते हुए देखा तो उन गरीब मजदूरों ने भी पैदल घर जाने का मन बना लिया और पैदल घर निकल पड़े। जब घर पहुंचे तो घर पहुंचकर कुछ दिन तो आसानी से काट लिए उसके बाद घर पर भी परेशानी होने लगी इसके बाद यह मजदूर घर पर ही कुछ व्यवसाय करने की सोचने लगे और इन्होंने सब्जी ,फल ,आदि का काम करना शुरू कर दिया

जब इन गरीब मजदूरों में सब्जी फल आदि बेचने का काम किया और इस कारोबार से लॉक डाउन में वार को चलाने का एक जरिया मिल गया था। इन गरीब मजदूरों का सब्जी का व्यापार कुछ दिन ही चल पाया उसके बाद इन सब्जी विक्रेताओं पर धर्म की राजनीति शुरू हो गई। कुछ संगठनों ने सब्जी फल पर धार्मिक झंडे लगवाए जिनकी फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगी। जगह-जगह मजदूरों से उनका आधार कार्ड उनका नाम लोग पहुंचने लगे और जिससे उन्हें परेशानी होने लगी।

जब ऐसी सोच लोगों के विमानों में घुस जाती है इसके बाद सब्जी विक्रेताओं की मारपीट की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने लगती हैं दिल्ली में एक सब्जी विक्रेता को एक व्यक्ति पटाई लगाता है जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो जाता है। अभी जल्दी ही बीजेपी के नेता एक सब्जी बेचने वाले को डराते धमकाते हैं कि इस गली में दोबारा दिख मत जाना।

लेकिन एक सवाल यह है कि जो यह गरीब मजदूर सब्जी के अलावा इस लॉक डाउन में कोई और काम नहीं कर सकते हैं। इन्होंने जैसे तैसे सब्जी का काम शुरू किया और इस सब्जी के काम से गरीब मजदूरों का परिवार चलने लगा लेकिन जब सोशल मीडिया पर सब्जी बेचने वालों की पिटाई की वीडियो चलने लगी तब इन मजदूरों ने डर से सब्जी का काम बंद कर दिया। और कुछ लोग जो ज्यादा परेशान हैं आज भी डर डर कर सब्जी का काम कर रहे हैं।