लगातार लॉक डाउन में भी बढ़ रहे हैं कोरोना वायरस संक्रमण के मामले पढ़ें यह रिपोर्ट

जिस वक्त हम यह खबर लिख रहे हैं उस वक्त कोरोनावायरस संक्रमित मरीजों की संख्या 26 हजार पार कर चुकी है अभी तक 455 आज नए मामले बढ़े हैं भारत में महाराष्ट्र कोरोना वायरस संक्रमित मामले में नंबर एक पर है और दूसरे नंबर पर है गुजरात। 25 मार्च को पहला लॉक डाउन हुआ था जो 21 दिनों का था और 15 तारीख को यह लोग डाउन खत्म होने वाला था लेकिन संक्रमित मामले बढ़ते देख लॉक डाउन को बढ़ाना पड़ा इसके बाद लोग डाउन की समय सीमा 3 मई तक कर दी गई। और भारत सरकार ने कोरोनावायरस बचने के लिए लॉक डाउन जारी रखा। लॉक डाउन को एक महीना से ज्यादा हो गया है लेकिन इस एक महीने में इस सरकार ने कोरोनावायरस से बचने के लिए क्या इंतजाम किए जो डॉक्टर जरूरी सामान के लिए अपनी आवाज सोशल मीडिया पर उठा रहे थे क्या उनके पास जरूरी सामान पहुंचा।

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने कार्यक्रम मन की बात में 11:00 बजे देशवासियों को संबोधित किया उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस की इस लड़ाई में देश का हर नागरिक सिपाही है पूरा देश इस कोरोनावायरस की लड़ाई में एक साथ चल रहा है कोई किसी को खाना खिला रहा है कोई राशन की मदद पहुंचा रहा है हर कोई इस कोरोनावायरस की लड़ाई में किसी ना किसी को मदद पहुंचा रहा है। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह तो कह दिया कि कोई सब्जी लेकर कोई राशन लेकर गरीबों की मदद कर रहा है लेकिन जो लोग सब्जी बेचने वाले धार्मिक रंग दे रहे हैं हैं क्या उनके बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने क्या कहा। जब गरीब सब्जी लेने जाएगा तो उसे सिर्फ सब्जी दिखाई देगी ना कि बेचने वाले का धर्म। अगर कोई इंसान किसी की मदद पहुंचाएं तो क्या वह धर्म देखकर मदद पहुंचाएगा

हम इस कोरोना वायरस की खतरनाक बीमारी से गुजर रहे हैं देश संकट के दौर से गुजर रहा है लेकिन ऐसे में यह लोग सांप्रदायिक रंग देना बंद नहीं कर रहे हैं ।