भूख से चली गई 24 लोगों की जानें

आप जानते हैं कि जिस वक्त हम यह खबर लिख रहे हैं उस वक्त कोरोना वायरस संक्रमण मरीजों की संख्या 1309 है पर यह संख्या लगातार बढ़ रही है आपको बता दें कि कुछ राजनेता जो पहले बॉलीवुड में रह चुके हैं और कुछ चाटुकार पत्रकार अब यह सवाल उठा रहे हैं कि सरकार जो काम करती है उसमें यह अपनी टांग अड़ाते हैं

आज अनुपम खेर ने एक वीडियो पोस्ट किया जिसमें उन्होंने कहा यह सरकार के कामों की बुराई करते हैं जगह-जगह के वीडियो पोस्ट करते हैं सोशल मीडिया पर वायरल कर आते हैं और देश की छवि खराब करने की कोशिश करते हैं लेकिन इनको कौन बताए कि भारत में कोरोनावायरस के चलते हुए 24 लोगों की पैदल चलते हुए भूख से मौत हो गई इनके घर से कुछ दूर हाईवे पर एक दुर्घटना होती है जिसमें मजदूर अपने घर जा रहे होते हैं जिसमें से चार घटनास्थल पर ही दम तोड़ देते हैं तीन की हालत नाजुक बताई जाती है लेकिन उन्होंने उस पर जिक्र नहीं किया आप जानते हैं इनकी बीवी किरण खेर बीजेपी के सांसद हैं

बरेली की सेटेलाइट चौराहे का वीडियो आज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जहां मजदूरों को रोड पर बिठाकर सैनिटाइज किया जा रहा है लेकिन सवाल यह नहीं है कि उनको बिठाकर सैनिटाइज किया जा रहा है सवाल यह है कि लोग डाउन करने से पहले सोचना चाहिए था कि हमारे पास क्या व्यवस्था है आप उस वीडियो में आपने देखा ही होगा कैसे मजदूरों को जानवर की तरह बिठाकर उन पर सैनिटाइज का छिड़काव हो रहा है सैनिटाइज करना कोई गलत बात नहीं है लेकिन सवाल ये है कोरोनावायरस पिछले 1 महीने से दस्तक दे रहा था तब क्या व्यवस्थाएं थी जो आज यह सब करना पड़ रहा है।

आपको मालूम है दिल्ली से कुछ लोग अपने घर के लिए रवाना हुए और मुरादाबाद से होकर निकल रहे थे तब उनसे पूछा कि आप कहां जा रहे हैं तो वह पता है उन्होंने क्या बोला कि अभी हमें 1100 किलोमीटर और चलना है आपको मालूम होना चाहिए कि रास्ते में कुछ फरिश्ते बैठे हुए हैं जिनके सहारे यह लोग चल रहे हैं जब से लोग जगह-जगह खाना खिलाने लगे हैं इन लोगों की उम्मीदें बढ़ गई हैं इन लोगों की एक चिंता तो खत्म हो चुकी होगी कि घर चले रहना चाहिए खाना तो कहीं ना कहीं कोई फरिश्ता बनकर अकेला ही देगा इनकी सबसे बड़ी परेशानी क्या है कि सोचो अगर इनके फोन की बैटरी डाउन हो गई तो ना तो यह लोकेशन देख सकते और ना ही किसी अपने परिवार वाले से संपर्क कर सकते सोचिए जरा

इन मजदूरों के लिए जल्द से जल्द सरकार कोई व्यवस्था करें वरना कोरोनावायरस से तो कम भूख से लोग मर जाएंगे ।