बिहार : लॉकडाउन में पेट की भूख ने बच्चों को मेंढक खाने पर मजबूर किया वीडियो वायरल

सोशल मीडिया पर बिहार के बच्चों का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें बच्चे मेंढक को आग में भून रहे हैं। इस वीडियो में एक बच्चा नहीं है बल्कि कई बच्चे आग के आसपास खड़े हुए हैं जिस आग में मेंढक भूने जा रहे हैं। इस वीडियो में जो बच्चे नजर आ रहे हैं उनके तन पर कपड़े तक नहीं हैं सिर्फ एक अंडरवियर पहने हुए नजर आ रहे हैं। सोशल मीडिया पर यह वायरल वीडियो बिहार के जहानाबाद का बताया जा रहा है इन बच्चों के घर में कुछ खाने को नहीं है राशन भी नहीं है तो मजबूरी में अपनी पेट की भूख मिटाने के लिए मेंढक पकड़ कर भून कर खा रहे हैं जहानाबाद का यह वीडियो बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से कई सवाल खड़े करता है।

वायरल वीडियो में एक बच्चे ने बताया कि घर में खाने को राशन नहीं है ऐसी लॉक डाउन की स्थिति में घरों में ना तो राशन है ना तो खाने को कुछ है पेट में जोरों की भूख लगी है। इस भूख को मिटाने के लिए आसपास के तालाबों से मेंढक पकड़ते हैं पकड़ने के बाद उनको इकट्ठा करके आग जलाकर उन्हें भूनते हैं। इसके बाद भुने हुए मेंढक की चमड़ी उतार कर यह बच्चे इस चमड़ी को खाकर अपनी भूख मिटाते हैं।

इस वीडियो को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को ट्विटर पर जमकर ट्रोल किया । सोशल मीडिया पर एक खबर और वायरल हो रही है जिसने भूख मिटाने के लिए सांप को खाने का दावा किया जा रहा है। और कई लोग इस सरकार पर सवाल खड़े कर रहे हैं। कि आखिरकार यह स्थिति कैसे आई क्यों आई कि बच्चे अनाज ना होने के कारण यह मेंढक को खाने पर मजबूर हुए अगर आज इन बच्चों को नजरअंदाज सरकार करती है तो कल को यह मेंढक ही नहीं बल्कि अपनी भूख मिटाने के लिए कुछ और भी खा सकते हैं

जो सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल हो जाते हैं उनकी चर्चा हो जाती है लेकिन सचमुच इस देश में गरीब मजदूरों के बीच क्या हो रहा है जिनकी मजबूरी के तथ्य सामने नहीं आते हैं उनकी आवाज दबकर रह जाती है जब सरकार बनाते वक्त यह दावे किए गए थे कि यहां कोई भूखा नहीं सोएगा तब आज ऐसी स्थिति में यह हालात क्यों बने कि बच्चों को मेंढक खाने पर मजबूर होना पड़ रहा है क्या आज बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इन बच्चों से अपनी आंखें बंद करली है ।