तारिक फतेह ने हाल की घटना बताकर एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया, जो जांच में वीडियो 8 साल पुराना पाया गया, पढ़े रिपोर्ट

तारिक फतेह वह शख्स हैं जिन्हें आप गोदी मीडिया के टीवी चैनलों में डिबेट करते हुए देख सकते हैं । गोदी मीडिया के एंकर अक्सर इन्हें डिबेट का न्योता देते हैं। जब भारत में लॉक डाउन की वजह से मजदूर सड़कों पर पैदल अपने घर की ओर यात्रा कर रहे थे तब न्यूज़ 18 पर कार्यक्रम आर पार में इनका जीवन परिचय चल रहा था।

अब हाल ही में तारिक फतेह ने अपने ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो शेयर किया जिसमें तारेक फतह दावा कर रहे हैं कि यह पाकिस्तान में वर्तमान में की जा रही घटना है। तारिक फतेह ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर पहले भी कई जानकारियां गलत और झूठी भी है अगर आप इनका टि्वटर अकाउंट देखेंगे तो यह मुस्लिम समुदाय को टारगेट करते हुए नजर आएंगे। यह अपनी सोशल मीडिया की प्रत्येक पोस्ट में भारतीय मुस्लिमों को टारगेट करते हैं। देखिए इनका ट्वीट

आपने ट्वीट तो देख ही लिया होगा अब उसके बारे में बताने की जरूरत नहीं होगी। तारिक फतेह के वीडियो शेयर करने के बाद कुछ लोगों ने इस वीडियो को डाउनलोड करके ट्विटर और फेसबुक पर शेयर करना शुरू कर दिया और लंबी लंबी लाइनों के साथ टाइटल भी दिया गया।

8 साल पुराना पाया गया वीडियो

जब तारेक फतह द्वारा शेयर किए गए वीडियो की पड़ताल शुरू की गई तो वीडियो 8 साल पुराना पाया गया यह वीडियो पाकिस्तान की 2012 में हुई एक घटना का है। हिंदी टीवी की वेबसाइट पर 13 सितंबर 2012 मैं इसको लेकर आर्टिकल छपा हुआ है। आर्टिकल का स्नैपशॉट आपसे साझा कर रहे हैं देखिए।

तारिक फतह ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर कई और झूठी आपत्तिजनक जानकारियां पोस्ट की हैं । जिसके बाद उन्हें शर्मसार होना पड़ा। लेकिन इसके बावजूद भी यह अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर झूठी सांप्रदायिक व आपत्तिजनक पोस्ट करने से नहीं रुकते हैं। लेकिन इसके बाद भी गोदी मीडिया ने अपने कार्यक्रमों में खास जगह देता है।