गुजरात के सूरत में घर लौटने की मांग को लेकर सड़क पर उतरे मजदूर , पुलिस और मजदूर में हुई नोकझोंक , वीडियो वायरल

गुजरात के सूरत में मजदूरों ने अपने घर वापस लौटने के लिए एक बार फिर सड़कों पर उतर कर हंगामा किया आपको बता दें इन मजदूरों ने घर आने के लिए पहले भी दो बार हंगामा कर चुके हैं। इन गरीब मजदूरों की सरकार ने अभी तक क्यों नहीं सुनी है । पहले गुजरात के सूरत में उड़िया मजदूरों ने सड़क पर उतर कर हंगामा किया था सड़क पर आगजनी की थी उसके बाद जब उनकी नहीं सुनी गई सरकार ने उनकी आवाज को नहीं सुना मीडिया ने उनकी आवाज को नहीं सुना तब वे दूसरी बार सड़कों पर उतर कर हंगामा करने लगे लेकिन उस खबर को भी दबा दिया गया।

मजदूरों ने पुलिस पर बरसाए पत्थर

आज फिर गुजरात के सूरत में प्रवासी मजदूर अपने घर जाने की मांग को लेकर सड़कों पर उतर आए जमकर हंगामा किया तोड़फोड़ की। यह सुबह पहले तो कम लोग थे लेकिन उसके बाद हजारों की संख्या में इकट्ठे होने लगे और तोड़फोड़ करने लगे मौके पर पुलिस पहुंची पुलिस से इन लोगों की नोकझोंक हुई उसके बाद पुलिस ने इन्हें खदेड़ ना शुरु कर दिया और लाठीचार्ज करके इन्हें काबू में किया लेकिन हालात अब भी तनावपूर्ण बने हुए हैं। इन मजदूरों ने पास की खड़ी गाड़ियां ठेलो को तोड़ना तोड़ना शुरू कर दिया उसके बाद पुलिस ने हालात काबू में करने के लिए इन लोगों पर लाठीचार्ज किया

आपको बता दें इन मजदूरों को घर भेजने के लिए कई दिन से आश्वासन दिया जा रहा था और यह मजदूर घर जाने की मांग कर रहे थे और इन मजदूरों को प्रशासन ने भरोसा दिया था कि जल्द ही आपको घर भेज दिया जाएगा लेकिन जब मामला हद से बाहर हुआ और इन लोगों ने अपना आपा खो दिया और फिर सड़कों पर हंगामा करने लगे। हमें इतना बढ़ गया कि पुलिस को आंसू गैस के गोले भी छोड़ने पड़े हंगामा कर रहे लोगों को पुलिस ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा और मामले को काबू में किया। इंटरनेट पर इस घटना के कई वीडियो वायरल हो रहे हैं और गुजरात सरकार से सवाल पूछे जा रहे हैं कि आंखें इन मजदूरों को सड़क पर आना क्यों पड़ रहा है।