खतरनाक वायरस से सतर्क रहने के लिए 7 साल पहले बन चुकी है वे फिल्में

जिस प्रकार से पूरी दुनिया में कोरोनावायरस अपने पैर पसार रहा है और दुनिया में तेजी से बढ़ रहा है यह बेहद खतरनाक है सोशल मीडिया पर दो फिल्मों की क्लिप जबरदस्त वायरल हो रही है जिसमें से एक फिल्म है कृष 3 और दूसरी है चेन्नई वर्सेस चाइना । यह दोनों फिल्में ऐसी हैं इसको देखने के बाद हमें सावधान रहने की बहुत जरूरत थी आज हमारे भारत में कोरोनावायरस में तीसरी स्टेज पर कदम रख दिया है और यह बेहद ही खतरनाक है इन दोनों फिल्मों में यही चीज दर्शाई गई है कि कैसे विलेन वायरस बनाते हैं और उसे दुनिया में फैलाते हैं और फिर दुनिया पर हुकूमत करने का सपना देखते हैं और एंटी डॉट भी बनाते हैं ताकि हम जिस देश को एंटी डॉट दें तो हमारा गुलाम रहे और हम अपनी मनमानी करें हमारे देश को गुलाम बना ले हमारे इशारे पर हर देश नाचे इन दोनों फिल्मों में विलेन ऐसा ही सपना देखते हैं।

कम से कम भारत सरकार को इन दोनों फिल्म देखकर ही कुछ सीख लेनी चाहिए थी मिकी वायरस तो विदेश में था इंडिया में कैसे फैल सकता था जब लोग विदेश से आ रहे थे तभी एयरपोर्ट पर ऐसी व्यवस्था करने की जरूरत थी कि लोग घर जाने से पहले उनकी जांच की जानी थी और उन्हें आइसोलेशन वार्ड में रखने की जरूरत थी लेकिन यह नियम कब लागू हुआ जब चाइना में कुछ भारतीय लोग फंसे हुए थे तब भारत ने एक अहम कदम उठाया था और उन लोगों को चीन से भारत वापस लाया था उसके बाद उन्हें आइसोलेशन वार्ड में रखा गया 14 दिन के बाद उनमें से सभी को घर जाने दिया

लेकिन सिर्फ उन्हीं को जांच की गई उसके बाद विदेश से जितने भी लोग आए एयरपोर्ट से सीधे घर आए चुपचाप अपने घरों में जाकर घुस गए न जाने कितने लोग विदेश से आए अपने साथ वायरस लेकर आए लेकिन उनकी जांच नहीं हो पाई अगर इन सब लोगों को एयरपोर्ट पर रोक कर जांच कराकर घर आने दिया होता तो आज भारत में यह स्थिति नहीं होती एयरपोर्ट पर कड़ी निगरानी करने की जरूरत थी उसी समय जिस समय यह चीन में फैला हुआ था तभी भारत सरकार को सख्त कदम उठाने की जरूरत थी

एक सोशल मीडिया पर एक मैसेज बहुत वायरल हो रहा है इसमें लिखा हुआ है कि अमीरों को लाए विदेश से और हम अगर घर जा रहे हैं तो हम पीठ पर लाठी का रहे हैं दरअसल उसी वक्त भारत को एक कदम उठाना चाहिए था कि जितने भी गरीब मजदूर बाहर थे उनको भेजा जाता और उसके बाद पूरे भारत में लॉक डाउन किया जाता आपने देखा ही होगा लोग भूखे रहकर 5-5 6-6 दिन का सफर करके भूखे प्यासे गरीब पुलिस की लाठी खाने के बाद घर पहुंच रहे हैं इनके लिए सरकार ने कोई कदम नहीं उठाए सिर्फ दिए तो मात्र 4 घंटे गरीब मजदूर कहीं बाहर किसी प्रदेश में फंसा हुआ है तो क्या वह 4 घंटे में अपने घर पहुंच जाता 8:00 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक राष्ट्र को संदेश देते हैं कि पूरे भारत को लॉक डाउन किया जाता है उसी समय कितने मजदूरों की सांसें थम गई होंगी कभी सोचा है

कुछ लोग हैं जो फरिश्ते बंद कर राह में इन मजदूरों की सहायता कर रहे हैं पैसे नहीं है तो पैसे भी दे रहे हैं खाना तो खिला ही रहे हैं आपको पता है इन मजदूरों को कितनी परेशानी होती होगी इनके पास ना तो पैसे हैं ना ही इनका मोबाइल फोन चार्ज होगा जिससे यह किसी को कांटेक्ट कर सके लोकेशन देख सकें यह कहीं भटक गए तो रास्ता कैसे पता करेंगे लोग तो घरों में बंद हैं

भारत को क्लॉक डाउन किया गया है कुछ विचार करना चाहिए था आपने देखा होगा कुछ ऐसे ही निर्णय मोदी सरकार ने पहले दिए हैं 2016 में मोदी सरकार ने नोट बंदी का फैसला लिया गरीब लोगों के लिए बहुत परेशानी झेलनी पड़ी कई लोगों की लाइन में लगकर मौत भी हुई और कई ने लाठियां खाई जिनके फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर आज भी उस बात की गवाही दे रहे हैं कैसे निर्णय ले रहे हैं आप कम से कम आप एक बार निर्णय लेने से पहले इस देश की गरीब जनता के बारे में सोच लीजिएगा क्योंकि यह गरीब जनता भी आपको वोट करती है आपको चलती है और आपका हक बनता है सबसे पहले आप इन गरीबों की सुने

आज अगर गांव में वायरस फैल गया तो अमीर लोग तो अपने में लॉक डाउन हैं और रही भी सकते हैं लेकिन वह गरीब गांव का अपने आप को कैसे लॉक डाउन करेगा जिसके दरवाजे पर के किबाड़ भी नहीं है जिसके घर में मात्र एक ही कमरा है अगर मान लो उसे कोरोनावायरस हो गया तो वह अपने आप को कैसे अलग रख पाएगा क्योंकि अगर उसका एक ही कमरा हुआ तो बोलो कैसे अपने आप को अलग रख पाएगा यह एक सोचने वाली बात है कि जिस देश में इवेंट के लिए एक-एक हजार करोड़ रुपए खर्च किए जाते हैं कम से कम इन पर इन गरीब हूं पर उसमें से कुछ हिस्सा अगर खर्च हो जाए तो शायद हमारे भारत की तस्वीर बदल सकती है

जो फिल्मों की क्लिप्स आज सोशल मीडिया पर वायरल हो वायरल हो रही हैं अगर उन फिल्मों की तरह हीरो बनकर इन्होंने काम किया जाता तो आज यह दिन देखना नहीं होता।

अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो आप से अपील है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक शेयर करें।