क्या भारत में गरीब मजदूर की अंतरिक्ष के होटल में रहने की क्षमता है

भारत में दूसरे प्रदेश गए लोग अपने गांव नहीं लौट पा रहे हैं और अगर लौट भी रहे हैं तो उन्हें बहुत परेशानी झेलनी पड़ रही है साथ ही उन्हें 3 गुना किराया भी देना पड़ रहा है। 3 गुना किराया देने के बाद बसों में धक्का-मुक्की करने के बाद कहीं घर पहुंच रहे हैं। लोग अपने घरों को पैदल लौट रहे हैं सोशल मीडिया पर कई वीडियो ऐसे वायरल हैं जो गरीब मजदूर अपने घरों को लौट रहे हैं। साइकिल पर अपना सामान रख कर अपनी पूरी फैमिली के साथ घरों को लौटने के लिए हजारों किलोमीटर का सफर तय करके घर पहुंच रहे हैं। यहां तक कि जो गरीब मजदूर हैं वह एक 1 महीने में अपने घरों तक पहुंच रहे हैं। यह मजदूर जब घर जाने को अपनी आवाज नहीं उठाते हैं तब इन पर पुलिस लाठी बरसा कर इनकी आवाज को दबा देती है। लेकिन कल जो ठेकों के बाहर बोतल लेने की भीड़ लगी थी उस पर कोई सवाल नहीं क्योंकि उससे भारत की अर्थव्यवस्था बनाई जा रही है।

सोशल मीडिया पर एक वीडियो में महिला सूरत से इलाहाबाद जा रही है। यह गरीब मजदूर मां अपने 1 बच्चे को कंधे से लगाए गर्मी में सड़क पर पैदल चल कर अपने घर इलाहाबाद लौट रही है। शायद हमारी देश की गोदी मीडिया को यह वीडियो दिखाई नहीं दिया गया हो क्योंकि इस वीडियो में उस महिला ने गुजरात के सूरत का नाम लिया था। आपको हम बता दें कि गोदी मीडिया गुजरात पर कोई खबर नहीं दिखाता क्योंकि इन गरीबों की खबर दिखाने से गुजरात मॉडल का नाम खराब होता है आपको पता है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसी गुजरात मॉडल से मुख्यमंत्री से प्रधानमंत्री बने थे और जब चुनाव हुआ था तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विज्ञापन के तौर पर इसी गुजरात मॉडल का जिक्र किया था लेकिन आज जब यह गरीब मजदूर अपने घर को पैदल लौट रहे हैं तभी खबरें गोदी मीडिया क्यों नहीं दिखाता। वीडियो में देखिए किस तरीके से गरीब महिला अपने बच्चे को कंधे से लगाए सूरत से इलाहाबाद अपने घर के लिए जा रही है। देखें वीडियो

एक गरीब परिवार बेंगलुरु से अपने घर राजस्थान कोटा लौट रहा है सोशल मीडिया पर यह भी वीडियो वायरल है यह व्यक्ति साइकिल पर अपने परिवार को लेकर राजस्थान के कोटा मैं अपने घर को लौट रहा है इसके साथ में इसकी बीवी बच्चे मां सभी लोग साथ में चल रहे हैं इस मजदूर को बेंगलुरु से चले हुए 1 महीना 4 दिन हो गए हैं और यह साइकिल से अपने घर को लौट रहा है इन्हें जाता देख एक व्यक्ति ने इनको रोककर इनसे पूछताछ की देखें यह वीडियो ।

अभी तक गोदी मीडिया ने इन गरीब मजदूरों के लिए आवाज नहीं उठाई है इन्हें बस अलग तरीके की खबरें पसंद है जिनसे सरकार की वाहवाही हो लेकिन अभी कुछ दिन पहले जब कोरोनावायरस के मामले भारत में बहुत कम थे तभी यह महान पत्रकार ने अपने प्राइमटाइम कार्यक्रम में यह चलाया कि ” पृथ्वी पर अगर हर जगह कोरोनावायरस फैल गया तो आप कहां जाएंगे यानी पृथ्वी पर रहना मुश्किल हो जाएगा तब आप नासा द्वारा बनाए गए अंतरिक्ष के होटल में रह सकते हैं। यह वह पत्रकार हैं जिन्होंने फिरौती वसूल करने के आरोप में तिहाड़ जेल में जाकर पत्रकारिता का नाम रोशन किया था। देखिए वीडियो