कोरोना की जंग तो जीत गए लेकिन अब यह जंग कैसे जीतोगे

मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले के रहने वाले दीपक ने कोरोनावायरस से तो जंग जीत ली है और अब वे बिल्कुल स्वस्थ स्वस्थ हैं लेकिन अब पड़ोसियों के दुर्व्यवहार से एक और जंग कैसे जीतेंगे जहां कोरोनावायरस से ठीक होकर जब कई मरीज अपने घर वापस पहुंच रहे हैं तो लोग उनका तालियों और फूलों से स्वागत कर रहे हैं और सराहना दे रहे हैं कि और भी कई लोग तो कोरोनावायरस से जंग लड़ रहे हैं जल्द से जल्द ठीक हो जाएं और अपने घर वापस लौट आए। लेकिन यही मध्य प्रदेश से जो खबर आ रही है वह बिल्कुल हैरान करने वाली खबर है दीपक को पिछले दिनों कोरोनावायरस के संपर्क में आने से वे इस वायरस से संक्रमित हो गए इसके बाद उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती किया गया उपचार के बाद जब भी ठीक हो गए और घर लौट आए।

लेकिन दीपक अब बिल्कुल ठीक है और उनकी रिपोर्ट भी नेगेटिव आई है लेकिन जब एक घर लौट कर आए तो उनके पड़ोसी दीपक से संपूर्ण बहिष्कार कर रहे हैं यहां तक कि उनके घर वाला सब्जी वाला भी नहीं जाने दे रहे हैं इस बहिष्कार को लेकर बहुत परेशान हैं और इसी परेशानी को देखते हुए वे अपने इस घर को बेचकर कहीं और स्थान पर बसना चाहते हैं। उन्होंने बताया कि समाज हम से घृणा कर रहा है। दीपक ने बताया कि जब भी हॉस्पिटल में भर्ती थे तब उनका मनोबल बढ़ाने के लिए और इस लड़ाई को जीतने के लिए जिला प्रशासन ने डॉक्टर ने उनका हौसला बनाए रखा लेकिन जब मैं बिल्कुल स्वस्थ होकर अपने घर लौटे तो उनके पड़ोसी सामाजिक घृणा कर रहे हैं

जब दीपक ने सामाजिक बहिष्कार को नजर नजर अंदाज करते हैं और उन्होंने सोचा कि कुछ दिन ऐसे ही बीतेगा आने वाला समय ठीक होगा लेकिन उनके पड़ोसियों का दिल नहीं भरा उनके पड़ोसी शाम को उनके दरवाजे पर आकर गंदी गंदी गालियां बकते हैं दरवाजा पीट-पीटकर गाली गलौज भी करते हैं और साथ ही धमकियां देते हैं कि जल्द से जल्द यह मकान खाली करके कहीं और बस जाएं। यह बर्ताव दीपक को बर्दाश्त नहीं हुआ और उन्होंने अपने मकान के आगे बोर्ड लगा दिया कि यह मकान बिकाऊ है

जरा सोचिए यह सामाजिक घृणा का मामला सामने आया है अगर देश में और भी ऐसे मामले आए तो उन लोगों का क्या होगा जो इस समय कोरोनावायरस की चपेट में है और इस वायरस से जंग लड़ रहे हैं अगर वह स्वस्थ होकर अपने घर लौटते हैं अगर उन लोगों के साथ भी ऐसा ही व्यवहार हुआ तो वे लोग अंदर ही से टूट जाएंगे जो लोग इस समय कोरोनावायरस की जंग लड़ रहे हैं।