आगरा में क्वॉरेंटाइन सेंटर की व्यवस्था बेहद खराब , भूख से हड़ताल पर बैठी महिलाओं ने प्रशासन को दी धमकी , पढ़ें यह पूरी रिपोर्ट

आगरा कोरेंटिन सेंटर की हालत बिल्कुल खराब है जो लोग इस कोरेंटिन सेंटर में क्वॉरेंटाइन थे अब उनकी हालत खराब होने लगी है हां तो उन्हें वक्त पर खाना मिल रहा है । और न ही उनकी वक्त पर देखभाल की जा रही है। राजा एसपी सिंह कॉलेज इटावा क्वॉरेंटाइन सेंटर में महिलाएं धरना प्रदर्शन पर बैठ गई। जब इन लोगों को वक्त पर खाना नहीं मिला वक्त पर इन्हें देखा नहीं गया तब इन लोगों ने शासन और प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन शुरू किया प्रदर्शन शुरू करते ही मौके पर पुलिस पहुंच गई और महिलाओं से पुलिस की नोकझोंक होने लगी। जब महिलाओं ने क्वॉरेंटाइन सेंटर की हालत खराब बताई। और व्यवस्था को लेकर सवाल किए तो दरोगा साहब आग बबूला हो उठे

और दरोगा साहब ने जेल भेजने की महिलाओं के लिए धमकी दी मगर दरोगा साहब को यह सोचना चाहिए कि क्वॉरेंटाइन सेंटर क्या किसी जेल से कम है। आज आगरा कॉइन सेंटर की हालत इतनी खराब है लेकिन गोदी मीडिया में इसकी कोई चर्चा नहीं है ना ही इस पर कोई डीएनए हो रहा है ना इस पर कोई आर पार हो रहा है किसी को कोई मतलब ही नहीं है जो मर रहा है मरने दो। इसी तरह इश्क क्वॉरेंटाइन सेंटर की हालत खराब रही तो क्वॉरेंटाइन किए गए लोग को रोना से नहीं बल्कि भूख से अपनी जान गंवा बैठेंगे।

गौर करने वाली बात यह है कि इस क्वॉरेंटाइन सेंटर में डॉक्टरों की टीम को भी शिफ्ट किया गया था। पर यह टीम पारस अस्पताल के संपर्क में आने वाले लोगों की टीम थी। लेकिन अस्पताल वालों के साथ यह बर्ताव हो रहा है और जब यह लोग इस व्यवस्था को लेकर सवाल खड़े करते हैं प्रदर्शन करते हैं तब उत्तर प्रदेश की पुलिस इन्हें जेल में डालने की धमकी देती है। उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अखबार में छपी इस खबर को लेकर मौजूदा सरकार पर तंज कसा है देखिए अखिलेश यादव का यह ट्वीट

जब दरोगा साहब ने धमकी दी तब प्रदर्शन कर रही भूख हड़ताल पर बैठी महिलाओं ने भी प्रशासन को धमकी दे डाली कि या तो ” हमें यहां से बाहर निकालो या हमें जान से मार दो “। क्वॉरेंटाइन सेंटर में व्यवस्था बेहद खराब होने पर महिलाओं की हालत बिगड़ने लगी है। और दरोगा साहब इन्हें जेल में डालने की धमकी दे रहे हैं।