अब एक और भारतीय नागरिक की मुस्लिम विरोधी पोस्ट करने से गई नौकरी , पढ़ें पूरी खबर

मुस्लिम विरोधी पोस्ट करने वाले मामले विदेशों में रुक नहीं रहे हैं और इसके चलते इन भारतीयों को नौकरी से हाथ धोना पड़ रहा है सोचिए ऐसे माहौल में इन्हें नौकरी से हाथ धोना पड़ रहा है जब पूरी दुनिया में कोरोनावायरस का संकट सर पर खड़ा हुआ है। पहले भी कई भारतीयों ने विदेशों में रहकर मुस्लिम विरोधी पोस्ट सोशल मीडिया पर की । उसके बाद हुआ यह की संयुक्त अरब अमीरात की सरकार ने इन पर कार्यवाही की। और उसके बाद इन्हें कंपनियों ने नौकरी से निकाल दिया।

इसके चलते हुए करीब डेढ़ लाख भारतीयों को वापस भेजने का फैसला ले लिया है । उन्होंने यह निर्णय लिया है कि अब भारतीयों को अपने देश भेज कर यही स्थानीय लोगों को नौकरी दी जाए। जरा सोचिए किक किस तरह की गंदगी सोशल मीडिया पर फैला रहे हैं और कि विदेशों में रहकर भारत की साख को नुकसान पहुंचा रहे हैं। और इसका मुख्य कारण हमारी गोदी मीडिया और कुछ भड़काऊ बयान देने वाले नेता हैं। जो इस कोरोनावायरस में भी अपनी नौकरी की बिना परवाह किए सोशल मीडिया पर भड़काऊ मुस्लिम विरोधी पोस्ट कर रहे हैं और नौकरी गंवानी पड़ रही है।

और अब आज भी ऐसा ही हुआ । न्यूज़ 18 की खबर के मुताबिक कनाडा में एक भारतीय नागरिक मुस्लिम विरोधी पोस्ट करता है। और फिर इसे नौकरी से हाथ धोना पड़ता है। जरा सोचिए भारत में नौकरी करना इस वक्त कितना मुश्किल है क्योंकि सब कुछ इस समय भारत में बंद है और यह भारतीय नागरिक विदेश में रहकर बड़ी खुशहाली से नौकरी कर रहा था। इसके दिमाग में किस प्रकार की मानसिकता होगी जो इसने विदेश में रहकर मुस्लिम विरोधी पोस्ट करके नौकरी को छोड़ना पड़ा।

जिस शख्स ने मुस्लिम विरोधी पोस्ट की थी उस शख्स का नाम रवि गुड्डा है। और रवि हुड्डा रियल स्टेट में एजेंट के पद पर कार्यरत था। इस शख्स के ट्वीट करने के बाद इसका ट्वीट कनाडा में वायरल होने लगा वायरल होने के बाद कनाडा के ब्रैम्पटन के मेयर ने ट्वीट कर कहा कि सरकार को जानकारी दी। जिसके बाद वहां की सरकार ने इस शख्स के बारे में जानकारी जुटाकर कंपनी को नोटिस दिया उसके बाद इस शख्स को नौकरी से हाथ धोना पड़ा।

शख्स ने अपनी विवादित पोस्ट में कुर्बानी को लेकर और लाउडस्पीकर में जो अजान लगती है उसको लेकर विवादित पोस्ट की थी मामला बढ़ता देख इसने वो पोस्ट डिलीट कर दी। पहले यह गंदगी हमारे देश में थी लेकिन अब यह गंदगी विदेशों में भी पहुंच गई है और इससे देश को कितना नुकसान हो रहा है यह आप अंदाजा लगा सकते हैं क्योंकि अब संयुक्त अरब अमीरात के देशों ने मुस्लिम विरोधी पोस्ट करने पर कड़े तेवर अपना लिए हैं।

यानी आप ऐसा कह सकते हैं कि यदि अब कोई भारतीय नागरिक विदेश में रहकर मुस्लिम विरोधी पोस्ट करता है तो उस पर कार्रवाई की जाएगी अगर वह किसी संस्था में या किसी कंपनी में वहां नौकरी करता है तो उसे नौकरी से भी निकाला जा सकता है। लोगों को समझ में क्यों नहीं आ रहा कि भारत देश में नौकरियां बिल्कुल नहीं है विदेशों में रह रहकर नौकरी तो मिल रही है लेकिन दिमाग में देश के कुछ नेताओं ने जब हम पैदा कर रखा है। और मीडिया ने जो खासतौर से इनके दिमागों भ्रम पैदा कर रखा है कि मोदी भारत के सबसे बड़े ताकतवर नेता है। और यह उसी के चलते हुए विदेशों में रहकर मुस्लिम विरोधी पोस्ट कर रहे हैं।