अफवाहों को ना फैलाओ भारतीयों

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जैसे ही 8:00 बजे भारतीय देशवासियों को यह संदेश दिया कि अगले 21 दिन तक पूरे देश में लोग काम रहेगा 21 दिन तक घर से निकलना भूल जाइए बस इतनी कहने की देर थी की अफवाह उड़ने लगी गाड़ियां दौड़ने लगी सड़कों पर लोग नजर आने लगे किराने की दुकान पर अचानक भीड़ लगने लगी लोग अपनी जरूरत से ज्यादा किराने का सामान खरीदने लगे दुकानों पर भीड़ लगी हुई है किराने के सामान को महंगा करके बेचा जा रहा है मनमाने दामों में सामान बेच रहे हैं लोग अफवाहों में ग्रस्त होकर सामान खरीद रहे हैं लेकिन उन्हें यह नहीं पता है की जरूरत का सामान पर कोई पाबंदी नहीं है इस बात को लेकर जनता में जागरूकता कम है

दुकानों पर भीड़ लगी हुई है और लोगों के मन में एक ही चिंता है कि कहीं ऐसा मान खत्म ना हो जाए और फिर बाद में हमें मिले ही भी या ना मिले लोग बाहर फंसे हुए हैं घर जाने के तरीका ढूंढ रहे हैं वह भी लोग अफवाह का शिकार हो रहे हैं लोग नमक, चीनी पत्ती दाल ,मसाले ,साबुन ,सर्फ, हल्दी बिस्किट, नमकीन, मैदा ,बेसन, आवश्यकता से अधिक खरीद रहे हैं क्योंकि वह एक अफवाह का शिकार हैं और उन्हें जागरूक करने के लिए कोई समझा नहीं रहा बल्कि व्हाट्सएप में तरह तरह के मैसेज बना कर ग्रुपों में सेंड किए जा रहे हैं और उस मैसेज में दावा किया जा रहा है कि जितनी जल्द हो सके किराने का सामान लेकर रख लें अन्यथा आप को कुछ दिन बाद भूखा सोना पड़ेगा इतनी जल्दी हो सके आप इतना सामान खरीद ले आप जानते ही हैं कि जब किसी को यह मैसेज मिलेगा तो वह अपने दोस्तों से यह शेयर जरूर करेगा और इसके क्या परिणाम हो रहे हैं यह आपको बता ही रहे हैं दुकानों पर हंसते ज्यादा भीड़ लगी हुई है और भीड़ को लेकर ही यह जनता कर्फ्यू लगाया गया था कि जिससे कोरोना वायरस संक्रमण लोगों में ना फैले लेकिन हमें वही काम होता हुआ दिखाई दे रहा है दुकानों पर बेतहाशा भी नजर आ रही है केवल एक अफवाह की वजह से

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि यह जनता करके उसे थोड़ा ज्यादा है इसका उल्लंघन ना करें अगर आप लंदन करते हैं तो आप पर कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाएगी और आपसे जुर्माना भी वसूला जा सकता है इसलिए आप लोगों से अनुरोध है कि 21 दिन तक अपने घर में कैद होकर ही रहें बाहर निकलने का प्रयास बिल्कुल ना करें

अगर आपके पड़ोस में कोई गरीब परिवार हैं तो उसकी मदद करें कहीं ऐसा ना हो कि वह भूखा सो जाए यही तो मौका है क्यों आप पर परीक्षा बनकर सवार होगा और हमें मालूम है कि आप सवाल से सही उत्तर बनकर निकलेंगे अपने पड़ोस में आसपास किसी को भूखा ना सोने दे कृपया अगर आर्थिक मदद ना हो सके तो उसे खाने को जरूर दें कहीं ऐसा ना हो कि आपके पड़ोस में आपके करीब कोरोनावायरस की वजह से तो नहीं बल्कि भूख से किसी की जान ना जाए आपको बेहद ध्यान रखने की जरूरत है और अफवाहों से भी बचे रहें बिल्कुल ध्यान ना दें जरूरत का सामान कभी भी बंद नहीं होगा

आपने यह डायलॉग जरुर सुना होगा कि हर कायर को शूरवीर बनने का एक ही मौका मिलता है और मौका यही है इसलिए इस मौके को ना कमाए ज्यादा से ज्यादा तन्हा लोगों की मदद करें और अगर आप के आस पास कोई अफवाह फैली है तो उससे बचाने कि उन्हें कोशिश करें