अगर इस नेता के साथ कोई घटना होती है तो जिम्मेदार कौन होगा ? वीडियो देखें

लगातार हम अपने आर्टिकल में गोदी मीडिया के बयानों को एक्सपोज कर रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे जिस तरीके से यह सत्ता की रोटियां सेकते हैं और नफरत फैलाने का काम करते हैं । और हमारे समाज को दो फाड़ करने की कोशिश कर रहे हैं। जब महाराष्ट्र में पालघर की घटना होती है तब तमाम गोदी मीडिया इसका सांप्रदायिक करण करने में जुड़ जाती है सारे गोदी मीडिया चैनल पर खबरें एक समान ही होती हैं आपको चैनल बदलने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि सब पर एक ही मानसिकता की खबरें दिखाई जा रही हैं जिससे टीआरपी को इकट्ठा किया जा सके इन लोगों को अगर खबर के बारे में जानकारी जुटाए तो मेहनत करनी पड़ती है उस खबर के बारे में पढ़ना पड़ता है लेकिन इन्हें चीखने की की आदत पड़ गयी है

जिन मुद्दों को सरकार के सामने लाना चाहिए सरकार से सवाल करना चाहिए यह मीडिया उसकी नाकामी छुपाकर विपक्ष सवाल पूछती है आपने अक्सर देखा होगा कि यह अपनी डिबेट में सत्ताधारी प्रवक्ता से तो कम लेकिन विपक्ष के प्रवक्ता से ज्यादा सवाल करते हैं जैसे विपक्ष सरकार विपक्ष चला रहा हो।

“बस ओए बस” को शोएब साबित करता हुआ पत्रकार

सुदर्शन टीवी के एंकर सुरेश चौहान के ने अपने कार्यक्रम में यह चलाया कि पालघर में साधुओं से लोग मारपीट कर रहे हैं उसमें कोई लड़का शोएब नाम पुकार रहा है और यह अपने कार्यक्रम में दावा ठोक के साबित कर रहा है कि इस वीडियो में जो पालघर में घटना हुई थी उसमें शोएब नाम साफ सुनाई दे रहा है। और यह पत्रकार एनसीपी के प्रवक्ता बृजमोहन पर कार्यक्रम में यह दबाव बनाता है कि आपको शोएब नाम सुनाई नहीं दे रहा। दरअसल यह जो पत्रकार है यह अपनी वीडियो में जो शोएब नाम साबित करना चाह रहा है और इस बात का दावा भी ठोंक रहा है तो हम आपको बता दें कि अगर आप इस वीडियो को ध्यान से सुनेंगे तब आपको इस वीडियो में “बस ओए बस” सुनाई देगा आप इस वीडियो को देखिए और जरा ध्यान से सुनिए ।

तो दोस्तों आपने सुना कि आपको क्या सुनाई दिया कि आपको शोएब सुनाई दिया या आपको बस ओए बस सुनाई दिया। पत्रकार अपने कार्यक्रम में साफ-साफ झूठ फैला रहा है क्या इस पत्रकार पर कार्रवाई नहीं होनी चाहिए। यह पत्रकार अगर ऐसे ही अपनी डिबेट में नफरत थी बयान देंगे तो सोचिए कि इसका हमारे समाज पर क्या परिणाम होगा। हमारे जो बच्चे हैं जो इनके कार्यक्रम को टीवी पर बैठकर देखते होंगे उनके दिमाग पर क्या असर पड़ेगा किस दिशा में जाएंगे।

अगर इस नेता के साथ कोई घटना होती है तो जिम्मेदार कौन होगा ? वीडियो देखें

अब देखिए यह पत्रकार एनसीपी के प्रवक्ता से कहता है कि लोगों की मजबूरी है कि टीवी पर आपकी गर्दन नहीं पकड़ सकते आप कभी मैदान में मिलोगे तब आपको बताएंगे आप सोच सकते हैं इसलिए अपनी कार्यक्रम में यह बात कही और कल को बृजमोहन के साथ अगर कोई घटना घटती है तो इसका जिम्मेदार कौन होगा आप देखिए यह वीडियो